गोरखनाथ मंदिर की पुन: प्राण प्रतिष्ठा 16 अप्रैल से,संतों के करकमलों से धन्य होगी शिवपुरी

शिवपुरी-धर्म के प्रति आस्था रखने वाले धर्मप्रेमीजनों के द्वारा आगामी 16 से 20 फरवरी तक राव की बगिया स्थित अति प्राचीन 1100 वर्ष पुराना एवं संवत् 1063 का श्रीगोरखनाथ जी मंदिर की पुनरू प्राण प्रतिष्ठा की जा रही है। इसे लेकर कार्यक्रम की तैयारियां शुरू कर दी गई है। धर्मस्व मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया के कुशल संरक्षण में श्रीगोरखनाथ मंदिर सेवा समिति के तत्वाधान में यह भव्य आयोजन होने जा रहा है जिसमें दूर-दराज से आने वाले संत-महात्माओं के चरण कमल से शिवपुरी नगरी धन्य हो जाएगी। 

कार्यक्रम संरक्षक श्रीगोरखना मंदिर महंत श्रीसीतारामदास जी महाराज होंगे जिनके सानिध्य में यह भव्य आयोजन नगरवासियो के सहयोग से संपन्न होगा। इस दौरान इस भव्य धार्मिक आयोजन में यजमान के रूप में शामिल होने के लिए धर्मप्रेमीजन आयोजन समिति के महंत सीताराम दास जी महाराज 8109978455 व राजेन्द्र गुप्ता 9827271066, नरेन्द्र जैन भोला 9425487925, अजीत बत्रा 9893638663, वीरेन्द्र जैन 7024226111, अरूण अपेक्षित 9893328600 आदि से एवं मंदिर स्थित कार्यालय पर संपर्क कर पुण्यलाभ के लाभार्थी बन सकते है। 

मंदिर महंत श्रीसीताराम दास जी महाराज के सानिध्य में औकाफ बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज ग्वालियर द्वारा संधारित देव स्थान श्रीगुरू गोरखनाथ मंदिर जिसका जीर्णोद्वार क्षेत्रीय विधायक एवं मप्र शासन की धर्मस्व मंत्री यशोधराराजे सिंधिया के द्वारा कराया गया है। उक्त मंदिर में स्थापित भगवान शिव के विग्रह एवं गुरू गोरखनाथ की प्रतिमा का पुनरू प्राण प्रतिष्ठा एवं मानस सम्मेलन का भव्य आयोजन अखिल कोटि ब्राह्मड नायक भगवान श्रीराधाकृष्णजीए श्रीहनुमानजी एवं श्री गोरखनाथ जी की असीम कृपा से श्री श्री 1008 साकेतवासी श्री सनकादिक विधि लोकाचार्य महंत श्री नरोत्तमदास जी महाराज के कृपापात्र श्री श्री 1008 महंत सीताराम दास जी महाराज के पावन सानिध्य में होने जा रहा है। 

कार्यक्रम में समस्त शहरवासी, ग्रामवासी,संत समाज, संतों के आर्शीवचन एवं दर्शनलाभ अंचल की धर्मप्रेमीजनता को प्राप्त होगा। आचार्यत्व का कार्य पं.सुरेश शर्मा भारद्वाज मंशापूर्ण हनुमान मंदिर कुशमोदा गुना द्वारा कराया जाएगा, वहीं उपाचार्य पं.घनश्याम वशिष्ठ व ब्रह्मा पं.राजेन्द्र प्रसाद भार्गव होगें, जबकि मंच संचालन एवं कार्यालय प्रभारी का दायित्व अरूण अपेक्षित एवं गिरीश मिश्रा मामा द्वारा संयुक्त रूप से किया जाएगा। 

हनुमान मंदिर माधव चौक से निकलेगी कलश यात्रा
महंत सीतारामदास जी महाराज द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार कार्यक्रम की शुरूआत भव्य कलश यात्रा के साथ होगी जो 16 अप्रैल को स्थानीय माधवचौक स्थित हनुमान मंदिर से निकलेगी और नगर के विभिन्न मार्गों से होते हुए श्रीगोरखनाथ मंदिर पहुंचेगी। जहां विधि-विधान से प्रायश्चित स्नान, कलश पंचांग पूजन एवं ब्राह्मण वरण होगा। इसके बाद 17 अप्रैल को देव आह्वान एवं जलाधिवास कार्यक्रम होगा, 18 अप्रैल को नित्य पूजन, अन्नाधिवास, फलाधिवास कार्यक्रम होगा, 19 अप्रैल को नित्य पूजन, पुष्पाधिवास, सहस्त्रधारा अभिषेक, शय्याधिवास कार्यक्रम होगा एवं अंत में 20 फरवरी को देव प्रतिष्ठा एवं पूर्णाहुति व प्रसाद वितरण किया जाएगा। इस दौरान इन सभी कार्यक्रमों में दूर-दराज बनारस, अयोध्या,चित्रकूट, से पधारने वाले साध्ुा-संतों के आर्शीवचन भी हेांगें। यहां करीब 1500 साधु-संतों के आगमन, ठहरने एवं भोजन की व्यवस्था श्रीगोरखनाथ मंदिर सेवा समिति द्वारा की गई है। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics