वृहद सेवा शिविर के माध्यम से शासकीय योजनाओं की दी जानकारी

शिवपुरी। जिला एवं सत्र न्यायाधीश आरबी कुमार ने कहा कि वृहद विधिक सेवा शिविर आयोजन करने का मुख्य उद्देश्य शासन की जनकल्याणकारी एवं हितग्राही मूलक योजनाओं के साथ-साथ विधिक सेवा प्राधिकरण की संचालित योजनाओं को आमजनों को जागरूक कर उनका लाभ दिलाना है। जिला एवं सत्र न्यायाधीश आरबी कुमार रविवार को शिवपुरी तहसील के ग्राम सतनवाड़ा में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जिला न्यायालय शिवपुरी एवं जिला प्रशासन शिवपुरी के सौजन्य से आयोजित वृहद विधिक सेवा शिविर को संबोधित कर रहे थे। 

कार्यक्रम में कलेक्टर तरूण राठी, एसपी सुनील कुमार पांडे, विशेष न्यायाधीश अरूण कुमार वर्मा, अपर न्यायाधीश वीएस दीक्षित, कुटुम्ब न्यायाधीश पीके शर्मा, अपर न्यायाधीश शशिभूषण शर्मा, अपर न्यायाधीश संतोष कुमार, न्यायीक मजिस्ट्रेट रवीन्द्र कुमार शर्मा, सीजेएम शैलेन्द्र भदकारिया, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव प्रमोद कुमार सहित न्यायाधीश, अधिकारी, ग्रामीणजन, अधिवक्ता आदि उपस्थित थे। जिला एवं सत्र न्यायाधीश कुमार ने मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण एवं द्वीप प्रज्ज्वलित कर शिविर का शुभारंभ किया।

कुमार ने कहा कि राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली के कार्यपालक अध्यक्ष एवं न्यायमूर्ति रंजन गोगई द्वारा विधिक सेवा शिविर के आयोजन के संबंध में नया मॉडल अनुमोदित किया है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के अध्यक्ष न्यायमूर्ति एसके सेठ के सतत मार्गदर्शन में प्रत्येक जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा नालसा के नवीन मॉडल पर आधारित शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। इसी क्रम में आज ग्रामीण क्षेत्र इंदरगढ़ सुभाषपुरा में प्रथम वृहद विधिक सेवा शिविर का आयोजन किया गया है। 

कलेक्टर तरूण राठी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि वृहद विधिक सेवा शिविर एक बड़े स्वरूप में आयोजित होना एक अनुकरणीय पहल है। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के शिविरों के माध्यम से शासन की संचालित कल्याणकारी योजनाओं को लाभ ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को मिलेगा। 

उन्होंने कहा कि यह बड़ी खुशी की बात है कि विधिक साक्षरता शिविर में न्याय पालिका के साथ-साथ कार्यपालिका भी उपस्थित है। इस प्रकार के शिविरों से जहां न्याय पालिका से जनता का सीधा जुड़ाव होगा। कलेक्टर श्री राठी ने कहा कि इस शिविर के माध्यम से 1100 हितग्राहियों को भू-अधिकार के पट्टे दिए जाएंगें। साथ ही शासन की जनकल्याणकारी एवं हितग्राहीमूलक योजनाओं की जानकारी प्रदाय कर योजनाओं के तहत लाभांवित भी किया जाएगा। उन्होंने कहा कि शिविर में विभिन्न विभागों द्वारा जो स्टॉल लगाए है। उन स्टॉलों पर जाकर योजनाओं की जानकारी प्राप्त करें। 

पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार पांडे ने कहा कि वृहद विधिक सेवा शिविर का आयोजन एक अभिनव पहल है। उन्होंने कहा कि पहली बार इस प्रकार का शिविर विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा किया जा रहा है। जिससे शासन की विभिन्न् योजनाओं के तहत पात्र एवं जरूरतमंद हितग्राहियों को लाभ मिलेगा।  

कार्यक्रम के शुरू में जिला विधिक सहायता अधिकारी शिखा शर्मा ने शिविर के आयोजनों पर प्रकाश डालते हुए शिविर के उद्देश्यों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जिले में 120 पेरालीगल वोलेन्टियर नियुक्त किए गए है। 35 ग्रामों में जाकर लोगों को वृहद विधिक सेवा शिविर की जानकारी प्रदाय की गई है। उन्होंने विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा संचालित योजनाओं की जानकारी देते हुए कहा कि विधिक साक्षरता शिविरों के माध्यम से जनसामान्य को उनके कानूनी अधिकारों की भी जानकारी दी जा रही है। कार्यक्रम के अंत में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री प्रमोद कुमार ने सभी के प्रति आभार व्यक्त किया। 

शिविर में 832 हितग्राहियों को 1 करोड़ 70 लाख से अधिक की राशि से किया लाभांवित 
वृहद विधिक सेवा शिविर में शासन की विभिन्न् योजनाओं के तहत 832 हितग्राहियों को 1 करोड़ 70 लाख से अधिक की राशि की सहायता प्रदाय की गई।  
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics