जेल में कैदियों का सत्संग, बांटी रामपाल की जीवन की राह

शिवपुरी। जिला जेल  मे तत्वदर्शी संत रामपाल का सत्संग सभी धर्म के शास्त्रों (कबीर सागर,गीता,वेद, कुरान,बाइबिल,गुरुग्रंथ) को आधार मानकर एलईडी ओर टीवी के माध्यम से सम्पन्न हुआ। सतसंग में बताया गया कि शास्त्रनुसार भगति से ही मोक्ष सम्भव है और पूर्ण परमात्मा कौन है? कहां रहता है, कैसे मिलता है। 

पूर्ण परमात्मा की भक्ति करने से मनुष्य  सभी प्रकार के विकार रहित  होकर एक नेक नागरिक की तरह जीवन जीता है। ये सभी जानकारी शास्त्रों को समक्ष रखकर दी गयी। इसके बाद सभी बन्दी कैदी भाइयों को फल वितरण ओर भारत मे सबसे ज्यादा डाउनलोड होने वाली पुस्तक जीने की राह ओर अंध श्रद्धा भक्ति खतराये जान प्रत्येक जेल स्टाफ से लेकर महिला व पुरूष कैदी भाइयों को नि:शुल्क वितरण की गयीं। 

इस दौरान संस्था के दयानंद दास, हेमन्त दास, प्रमोद दास, गजेन्द्र दास, बंटी दास, ब्रजेन्द्र दास, मदन दास, नारायण दास, सुनील दास, सुखदेव दास, खच्चू दास आदि उपस्थित रहे।
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics