मिटिंग हुई फैल: शर्तो पर नही अनुबंध नही होने से गेहूॅ खरीदी पर सकंट

शिवपुरी: मप्र सहकारिता कर्मचारी महासंघ की शर्तों को ना मानने के कारण आगामी 25 मार्च से होने वाली गेहूँ खरीदी फिलहाल नहीं होगी। इसके लिए मंगलवार को जिला प्रशासन और नागरिक आपूर्ति निगम के अधिकारियों ने एक बैठक का आयोजन स्थानीय मानस भवन में किया जिसमें मप्र सहकारिता कर्मचारी महासंघ ने अपनी मांगों की बात कही लेकिन प्रशासन व निगम ने इसे दरकिनार कर दिया। 

जिसके परिणाम स्वरूप सहकारिता कर्मचारियों ने इस अनुबंध के ना होने के कारण एक ओर जहां विरोध दर्ज कराया तो वहीं निर्णय लिया कि आगामी 25 मार्च से होने वाली गेहूँ खरीदी खरीद केन्द्रों पर नहीं की जाएगी। 

मप्र सहकारिता कर्मचारी महासंघ के जिलाध्यक्ष महेन्द्र कुशवाह व कोषाध्यक्ष विनोद तिवारी ने संयुक्त रूप से जानकारी देते हुए बताया कि 64 केन्द्रों पर गेहूँ खरीदी तो शाासन करा लेता है और इसके लिए सहकारी सोसायटियों से अनुबंध भी कर लेते है लेकिन इसका खामियाजा बाद में संस्था को ही भुगतना पड़ता है । 

जब वह खरीदा गया गेहूँ परिवहन के दौरान किसी गोदाम में कम निकलता है जबकि खरीदी पर किसान के सम्मुख खरीदी होती है और बकायदा उसकी रसीद भी दी जाती है बाबजूद इसके गोदाम में पहुंचने पर खरीदी में कमी पाए जाने पर संस्था को दोषी क्यो माना जाता है। 

इसलिए हमने विरोध किया और इस विरोध के स्वरूप अब नागरिक आपूर्ति निगम स्वयं इस समस्या का हल निकालें तो हम गेहूँ खरीदी केन्द्रों पर करेंगें अन्यथा यह विरोध यूं ही जारी रहेगा। 

इसलिए यदि अनुबंध हो तो संस्था को मिलने वाला कमीशन संस्था को दिया जाए और गेहूँ खरीदी पर तैनात प्रभारी से किसी प्रकार की वसूली ना की जावे इन्हीं मांगों को मान लिया जाए तो हमें कोई आपत्ति नहीं होगी। अब देखना होगा कि शासन और नागरिक आपूर्ति निगम इस मामले में क्या रवैया अपनाते है अथवा 26 मार्च से होने वाली गेहूॅ खरीदी कहीं खटाई में ना पड़ जाए और इसका दंश किसानों व सरकार को भुगतना पड़े। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics