दिवंगत आत्माओं के चित्रों पर गुलाल लगाकर परिजनों को दी सांत्वना

शिवपुरी। प्रतिवर्ष की भांति इस बार भी अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा जिला शिवपुरी के तत्वधान मे रविवार को स्थानीय ठाकुर बाबा मंदिर, पोहरी रोड पर उत्साह के साथ होली का पावन पर्व मनाया गया और समाज बंधुओं ने एक दूसरे को गुलाल लगाकर परस्पर प्रेम और सौहार्द के साथ त्योहार मनाया। 

इस अवसर पर क्षत्रिय महासभा के जिला अध्यक्ष एड साहबसिंह कुशवाह ने कहा कि त्यौहार कोई भी हो वह उत्साह और उल्लास का प्रतीक होते है और हमें सामाजिक और संगठनात्मक रूप से एकत्रित होने का अवसर मिलता है। अपने विचारों के माध्यम से समाज की युवा पीढ़ी को मार्गदर्शन प्रदान करने के लिए हम उन्हें मार्गदर्शित करते है ऐसे में त्योहारों को मिलकर मनाना चाहिए। 

हालांकि होली का यह त्योहार कई परिवारों को दु:ख देकर उनके जीवन खुशहाल करने का अवसर भी प्रदान करता है इसलिए समाज के शोक संतृप्त परिवारों को ढांढस बांधकर उन्हें आगे जीवन जीने का अवसर भी हमें मिलता है। इसके उपरांत क्षत्रिय महासभा द्वारा शोक संतृप्त परिवारों की मृतआत्माओं की शांति के लिए उनके चित्रो पर रंग अर्पित कर श्रद्धांजलि दी और परिजनों को सांत्वना प्रदान की कि वह दु:ख की इस घड़ी में खुद को अकेला न समझे। परिवार और समाज उनके इस दु:ख में हर पल सहभागी है।

इन दिवंगत आत्माओं को दी श्रद्धांजलि
क्षत्रिय समाज की दिवंगत आत्माओं जिसमें स्व. मोहरपाल सिंह चौहान पूर्व जिलाध्यक्ष, रामदत्त सिंह कुशवाह एड., अमर सिंह सेंगर, आलोक सिंह चौहान पूर्व कार्यवाहक अध्यक्ष, जण्डेल सिंह राजपूत, देवलाल सिंह सिकरवार, जयचंद सिंह कुशवाह, धीरज सिंह सिकरवार, पूरन सिंह कुशवाह, पूरन सिंह परिहार, कृष्णा सिंह पत्नी जगरूपसिंह चौहान, शैलवाला राठौड़ पत्नी स्व.अर्जुन सिंह राठौड़, भदौरिया पत्नी नेपाल सिंह भदौरिया, गजेन्द्र सिंह तोमर की मृत आत्माओं को अश्रुपूरित श्रद्धांजलि अर्पित की गई। 

इन्होंने की भागीदारी 
इस दौरान क्षत्रिय महासभा के पूर्व नपाध्यक्ष जगमोहनसिंह सेंगर, अजीतसिंह राठौड़, शिप्रतापसिंह कुशवाह, वीरेन्द्र तोमर, चतुरसिंह सेंगर, चन्द्रकुमारसिंह चौहान, रामप्रकाशसिंह तोमर, चन्द्रपालसिंह कुशवाह, गुलाबसिंह कुशवाह, बृजेन्द्र सिंह भदौरिया, गौतम सिंह सेंगर, रामनरेश सिंह तोमर, जसवंत सिंह सेंगर, सूबेदार सिंह कुशवाह (मुन्ना राजा), सोनू भदौरिया, शिवम सिंह सेंगर आदि सहित अन्य क्षत्रिय बंधुजन मौजूद रहे। 
Share on Google Plus

About Yuva Bhaskar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 comments:

-----------

analytics