अब कर लो कट्टी इकठ्ठी: गर्मियो में नही आऐगा आपके नलो में सिंध का पानी

शिवपुरी। अब कर लो कट्टी ककठ्ठी नही आ रहा है आपके नलो में सिंध का पानी। फरवरी माह शुरू हो चुका है और शहर के जलसंकट ने अपनी दस्तक दे दी है। भीषण जल संकट से जूझ रही शिवपुरी को इस बार भी कट्टी और टेंकरो के भरोसे ही जिंदा रहना पड़ेगा। 

जैसा कि विदित है कि शहर की लाईफ लाईन समझने वाली योजना अभी का काम बहुत ही धीमी गाति से चल रहा है,योजना के तहत अभी बहुत काम होना शेष है और ठेकेदारों को भुगतान न होने के कारण या तो वे काम नहीं कर रहे हैं अथवा करभी रहे तो उसकी गति काफी धीमी हैं। 

सिंध जलावर्धन योजना में अब कोई तकनीकी कमी शेष नहीं रही है। लेकिन कॉन्ट्रेक्टर दोशियान कंपनी की नियत में लगातार खोट नजर आ रही है। बताया जाता है कि शासन और नगर पालिका से दोशियान कंपनी को भुगतान तो मिल रहा है, लेकिन कंपनी के कर्र्ताधर्ता जिनसे काम करा रहे हैं उन्हें भुगतान नहीं कर रहे हैं। 

जिसके फल स्वरूप इंटैक बैल का काम ठप्प पड़ा हुआ है और मड़ीखेड़ा से सतनवाड़ा तक बिजली का काम करने वाला ठेकेदार भुगतान न होने के कारण काम छोडक़र चला गया है। शहर में फीडर मैन का भी काम काफी शेष है। 

हालांकि नगर पालिका अधिकारी दावा कर रहे हैं कि मार्च माह तक मड़ीखेड़ा से सिंध का पानी सतनवाड़ा पहुंच जाएगा और 15 फरवरी तक इंटेक बैल में लगने वाले तीनों पंप आ जायेंगे, लेकिन आसार मुश्किल नजर आ रहे हैं। 

शहर में अभी डिस्ट्रीब्यूसन लार्ईन का काम काफी शेष है। पार्ईप को टंकियों से जोडऩे का काम भी अभी किया जाना है। हालांकि ठकुरपुरा, बड़ौदी और नौहरी में वितरण लाईन डाल दी गर्ई है। नगर पालिका अधिकारी कह रहे हैं कि वर्र्तमान में जो वितरण लाईन है उससे काम चला लिया जाएगा। 

लेकिन धरातल की सच्चार्ई कुछ और कहती है। एक ठेकेदार ने अपना नाम न छापने की शर्त पर बताया कि दोशियान कंपनी द्वारा भुगतान न किए जाने के कारण काम लगातार ल िबत हो रहा है और मर्ई जून की भीषण गर्र्मी में सिंध का पानी शिवपुरी आना असंभव है। 

कहीं कमीशन के फेर में तो लंबित नहीं हो रहा सिंध का काम
टेंकरों के जरिये शहर में पेयजल सप्लार्ई के लिए नगर पालिका प्रशासन से जुड़े कतिपय अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों को भ्रष्टाचार में बड़ा शेयर मिलता है। लेकिन सिंध का पानी शिवपुरी आने से भ्रष्टाचार में उनकी हाथ बटार्ई नहीं हो पाएगी इसलिए यह भी चर्र्चा है कि गर्र्मी में भ्रष्टाचार से कमाने वाले जि मेदार लोग इस गर्मी में सिंध का पानी शिवपुरी लाने में रोड़े अटका रहे हैं। 

इस चर्चा को इसलिए भी बल मिलता है कि आज से चार माह पहले ही नगर पालिका ने वाटर सप्लार्ई के लिए टेंकरों के ठेके फाईनल कर दिए हैं।
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..
Loading...
-----------

analytics