ShivpuriSamachar.COM

Bhopal Samachar

प्यासे लोगों को पानी पिलाना सबसे बडा पुण्य का काम: मुन्नालाल कुशवाह | Shivpuri News

शिवपुरी। मानव वेलफेयर सोसायटी द्वारा आम राहगीरों को शीतलता प्रदान करने के लिए कम्युनिटी हॉल के सामने प्याऊ का विधिवत पूजा अर्चना कर शुभारंभ किया गया। इस भीषण गर्मियों में लोगों को ठंडा पेयजल की सुविधा मिल सकेगी। प्याऊ के शुभारंभ के मौके पर अतिथि के रूप में नगर पालिका अध्यक्ष मुन्नालाल कुशवाह, एवं विशिष्ठ अतिथि के रूप में नपा उपाध्यक्ष अनिल शर्मा अन्नी एवं अध्यक्षता वरिष्ठ पत्रकार आलोक एम इंदौरिया द्वारा की गई। इस अवसर पर अतिथियों द्वारा प्याऊ का फीताकाट कर शुभारंभ किया। 

प्याऊ के शुभारंभ अवसर पर नगर पालिका अध्यक्ष ने कहा कि मानव वेलफेयर सोसायटी द्वारा इस प्याऊ का  शुभारंभ किया इससे कई प्यासे लोगों को पानी पीने के लिए उपलब्ध हो सकेगा इससे बड़ा पुण्य का पुण्य कोई नहीं है। जो आज संस्था के सदस्यों ने इन मटकों के माध्यम ठंडा पेयजल आम लोगों के लिए उपलब्ध कराया यह बहुत बड़ी सेवा हैं। वहीं नपा उपाध्यक्ष अनिल शर्मा अन्नी ने कहा कि पानी तो ईश्वर का वरदान है इसे तो सहेजे और दूसरों में बांटे तभी यह सत्कार का कार्य पुण्यदायी फल प्रदान करने वाला होता है। 

प्याऊ  के शुभारंभ अवसर पत्रकार आलोक एम इंदौरिया ने कहा कि प्यासे को पानी पिलाना ही सबसे बड़ी पुण्य कार्य हैं। इन गर्मी के दिनों में प्यासे व्यक्ति को पानी आसानी से मिल जाए यह बहुत बड़ा पुण्य का कार्य हें। हिन्दू संस्कृति के अनुसार प्यासे नागरिकों के साथ-साथ जीवों को पानी पिलाना धर्म कार्य ही नहीं पुण्य माना जाता है। इसलिए धर्म प्रेमी बंधु और विभिन्न समाजसेवी संस्थाएं नि:शुल्क ठंडे पानी की व्यवस्था करती हैं। 

इसी कड़ी आगे बढ़ाने कार्य मानव वेलफेयर सोसायटी संस्था कर रही हैं। इस प्याऊ के शुभारंभ में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वालों में संतोष शिवहरे, राजेश ठाकुर, राजेन्द्र राठौर, विवेक शिवहरे, रवि तिवारी, नीलेश सिकरवार, रामेश्वर राठौर, निर्भय हीरा, संजीव बांझल, बीपी पटेरिया, अनुराग जैन, राजीव भाटिया, आलोक गुप्ता, अतुल सिंह, एचबी चौहान, अजय सेनी, अरूण शर्मा बंटी, रानू अग्रवाल, पप्पू अग्रवाल, राजकुमार शर्मा आदि लोग उपस्थित थे। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

-----------

analytics