ShivpuriSamachar.COM

Bhopal Samachar

नकुल नाथ के बयान पर भडकी भाजपा: बैंड बजाकर चराई बकरियां, किया विरोध | Shivpuri News

शिवपुरी। आज भाजयुमों ने कमलनाथ के सुपुत्र नकुलनाथ के नामांकन दाखिल करने के बाद दिए गए बयान पर जमकर नाराजगी जताते हुए विरोध प्रदर्शन किया। भारतीय जनता युवा मोर्चा ने नकुल नाथ के नामांकन दाखिल करने के विरोध में किया प्रदर्शन मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ युवाओं को ढोर चराने और बैंड बजाने जैसे रोजगार उपलब्ध कराने की बात करते हैं। 

स्वयं के बेटे के लिए सांसद के दरवाजे उनकी पार्टी खोल करके उनका स्वागत करती है अर्थात पूर्व मध्य प्रदेश के युवा बेरोजगारों के साथ सौतेला व्यवहार करते हुए मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री दर्शा रहे हैं। इसी विरोध में आज भारतीय जनता युवा मोर्चा जिला शिवपुरी के द्वारा शहर के माधव चौक चौराहे से लेकर के कोर्ट रोड से अस्पताल चौराहे तक विरोध प्रदर्शन में बैंड बजाए गए तथा बकरियों को चारा खिला कर विरोध प्रदर्शन किया जिसमें शिवपुरी शहर के सैंकड़ों से अधिक युवा बेंड लाकर के और बकरियों को लाकर के चारा खिला कर के विरोध किया। 

इसके साथ-साथ नारे लगाए कमलनाथ मुर्दाबाद यदि इस प्रकार मध्य प्रदेश के युवाओं के साथ में कमलनाथ सरकार सौतेला व्यवहार करेगी तो भारतीय जनता युवा मोर्चा उसका पर जोर विरोध करता है और उन्हें चेतावनी देता है कि यदि उन्होंने अपना रवैया नहीं सुधारा तो उनकी कुर्सी को भी हिलाने में भारतीय जनता युवा मोर्चा कसर नहीं छोड़ेगा। 

इस कार्यक्रम में जिला अध्यक्ष मुकेश सिंह चौहान ने मीडिया से चर्चा करते हुए बताया कि मध्य प्रदेश की सरकार में निरंतर घोटाले पर घोटाले होते जा रहे हैं और युवाओं के भविष्य को लेकर लापरवाही पूर्ण रवैया का विरोध किया इस कार्यक्रम में पूर्व राज्य मंत्री राजू बाथम जिला उपाध्यक्ष हेमंत ओझा,प्रदेश कार्यसमिति सदस्य सुरेंद्र शर्मा नगर मंडल अध्यक्ष भानु दुबे नगर महामंत्री हरिओम राठौर भारतीय जनता युवा मोर्चा जिला महामंत्री संजय कुशवाह,जिला उपाध्यक्ष लव अग्रवाल सौरभ बिरथरे डॉ सतीश भार्गव, जिला मंत्री प्रतीक शर्मा नानू, अजय रघुवंशी,नगर मंडल अध्यक्ष गिर्राज शर्मा आदि सैकड़ों कार्यकर्ता इस विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए।
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

-----------

analytics