Ad Code

SHIVPURI BREAKING NEWS: लुटेरों ने व्यापारी को गोली मारी, घटना देखकर पुलिस भाग गई

शिवपुरी। खबर जिले के दिनारा थाना क्षेत्र से आ रही है। कस्बे के एक व्यापारी को अज्ञात बदमाशों ने लूटने का प्रयास किया। व्यापारी ने विरोध किया तो उसमें गोली मार दी और उस पर हॉकी से भी वार किया गया। घायल व्यापारी को स्वास्थ्य लाभ के लिए झांसी के चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। इस घटना के कारण गल्ले के व्यापारियो ने अपना आज काम बंद रखा है। इस पूरे मामले में खास बात यह है कि जब व्यापारी बदमाशों से उलझ रहा था तब एक पुलिस वाहन में भी निकला और उसे रोकने का प्रयास व्यापारी ने किया था लेकिन वह रूका नही, इस कारण इस क्षेत्र में पुलिस के खिलाफ आक्रोश बढ रहा है। बताया जा रहा है कि इस मामले में 2 पुलिस कर्मियो को सस्पैंड करने की खबर भी आ रही हैं। 

जानकारी के अनुसार गल्ला व्यापारी चतुर्भुज कंथरिया गुरुवार की सुबह रुपयों से भरा बैग लेकर दिनारा से झांसी की ओर करीब एक किलो मीटर दूर अपने गल्ले की दुकान फूला माता मंदिर के पास प्रतिदिन की तरह गुरुवार की सुबह करीब 8 बजे बाइक पर सवार होकर अकेले ही जा रहे थे कि दिनारा के सरकारी अस्पताल के सामने हाइवे रोड पर बाइक सवार तीन बदमाशों ने व्यापारी की चलती बाइक में कट मारकर रोक दिया।

उनमें से एक बदमाश बाइक स्टार्ट खड़ी किए ही खड़ा रहा औऱ दो बदमाश बाइक से उतरे उनमें से एक के हाथ मे कट्टा व दूसरे के हाथ मे हॉकी थी। पहले वादमाशों ने व्यापारी पर कट्टे से गोली मारी तो व्यापारी ने बचाव किया तो गोली कंधे के बगल से निकल गई। दोनों बदमाश व्यापारी की ओर रुपये से भरा बैग छीनने के लिए छपटे जब व्यापारी ने बेग नही दिया तो उन्होंने हॉकी से हमला कर दिया जिससे व्यापारी बुरी तरह घायल हो गया।

घटना का खास पहलू ये रहा कि जब व्यापारी को बदमाश घेरे कर बेग छिनने का प्रयास कर रहे थे उसी समय हाइवे रोड होने के चलते एक बुलेरो वाहन झांसी की ओर से आ रहा था जो बदमाशों के हाथ मे कट्टा औऱ हॉकी देख घटना स्थल से करीब 10 मीटर पहले रुक गए तो वादमाशों को लगा कि हमे घेरने के लिए कोई स्थानीय लोग आ गये इतने में ही बदमाश रुपयों से भरा बैग छीने बगैर रफू चक्कर हो गये। 

बदमाशों को देखते ही पुलिस भाग गई

जब बदमाश गल्ला व्यापारी को पीट रहे थे उसी समय पुलिस का वाहन दिनारा से सिकंदरा बैरियर की ओर निकला जिसे व्यापारी ने रोकने का प्रयास किया पर वह और तेज गति से फर्राटा भरते हुये निकल गया। घायल व्यापारी सहित व्यापार मंडल व घटना स्थल पर मौजूद सभी ने पुलिस कार्यप्रणाली की घोर निंदा की है। 

लापरवाही के चलते दो पुलिस कर्मी सस्पेंड

व्यापारी को बदमाश जब पीट रहे थे उस समय घटना स्थल से चार पहिया पुलिस वाहन निकला जिसे व्यापारी ने रूकने के संकेत दिए इसके बबजूद भी बगैर रुके वाहन चला गया उस वाहन में प्रधान आरक्षक नारायण सिंह बंजारा एवं आरक्षक मनोज यादव बैठे हुए थे उनकी घोर लापरवाही के चलते शिवपुरी एसपी ने दोनों पुलिस कर्मियों को तत्काल सस्पेंड कर दिया। 

बदमाशों ने गल्ला व्यापारियों के प्रतिष्ठानों रेकी की थी

बताया जाता है कि घटना घटित होने के 30 मिनिट पूर्व एक बाइक पर सवार तीन लोग गल्ला मील के सामने हाइबे रोड से एक, दो बार इधर से उधर निकले थे जिन्हें पर किसी ने विशेष गौर नही किया

गल्ला व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठान बंद रखे, किसानो ने दिया साथ

दिनारा गल्ला व्यापार मंडल के सभी व्यापारी घटना के विरोध में उतर आये और आज उन्होंने पूर्ण रूप से अपने प्रतिष्ठान बंद रखे। घटना के विरोध में व्यापारियों के साथ कुछ किसान भी कंधे से कंधा मिलाकर खड़े नजर आए औऱ किसानों ने अपने गेंहू से लदे ट्रैक्टर ट्रॉली को एक लाइन से हाइवे रोड पर खड़े कर व्यापारियों के साथ होकर घटना की घोर निंदा की एवं गेंहू बेचने के लिए झांसी या करैरा मंडी न ले जाकर पुनः अपने घर लौट गए। 

बदमाश 6 थे या तीन इसमें असमंजस

प्रत्यक्ष दर्शियों की माने तो उनका कहना है कि बदमाश दो बाइको से थे जिनमे एक पर तीन औऱ दूसरी पर तीन सवार थे और एक बाइक घटना स्थल से कुछ दूर पर खड़ी थी घायल व्यापारी की माने तो उनके अनुसार उन्हें दूसरी बाइक नही दिखी जिन्होंने उन्हें मारा उस बाइक पर तीन लोग सवार थे जो घटना के बाद सिकंदरा बैरियर झांसी की ओर भाग गए। 

व्यापारियों ने की पुलिस से सुरक्षा की माग

व्यापार मंडल ने दिनारा पुलिस से गल्ला मील क्षेत्र में एक पुलिस चौकी की मांग की जिसमे दो पुलिस कर्मी हर समय तैनात रहे एवं 100 डायल वाहन की मांग की जिसे दिनारा थाना प्रभारी ने आज शुक्रवार से ही चालू करने की बात कही। 

भाई की हत्या भी इसी तरह हुई थी

आज से कुछ वर्ष पहले घायल गल्ला व्यापारी चतुर्भुज कंथरिया के छोटे भाई स्वर्गीय जयप्रकाश कंथरिया की एक वादमाश द्वारा रुपयों से भरा बैग लूटने के चलते कट्टे से गोली मार दी थी जिससे जयप्रकाश की घटना स्थल पर मौत हो गई थी। उस समय घटना के विरोध सहित बदमाश की गिरफ्तारी औऱ बदमाशो में पुलिस का खौफ न होने के खिलाफ दिनारा का बाजार लगातार तीन दिन बंद रहा था। हालांकि पुलिस ने घटना के कुछ माह बाद बदमाश को एक इनकाउंटर मार दिया गया था।