Ad Code

नगर पालिका के कर्मचारियो के इलाज को ​लेकर सिविल सर्जन से भिडे नपा उपाध्यक्ष | Shivpuri News

शिवपुरी। नगर पालिका के हांका कर्मचारियों के उचित इलाज अस्पताल में न होने पर नगर पालिका उपाध्यक्ष अन्नी शर्मा कल अस्पताल में सिविल सर्जन डॉ. गोविंद सिंह से भिड़ गए। उन्होंने आरोप लगाया कि अस्पताल में हांका कर्मचारियों का इलाज नहीं होता और उन्हें प्रायवेट अस्पताल में इलाज कराना पड़ रहा है। 

यहां तक कि उनके पत्र को भी सिविल सर्जन तवज्जो नहीं देते हैं। इस पर डॉ. गोविंद सिंह ने सफाई दी और कहा कि उनका पत्र उन्हें कल शाम ही मिला है तथा उसे विधिवत रिसीव्ड भी दी गई है।

विदित हो कि नगरपालिका में शहर में घूम रहे आवारा पशु एवं जानवरों को पकडऩे के लिए करण बाथम के परिवार में एक हांका टीम बनाई। जिसके द्वारा आवारा कुत्ते, सांड इत्यादि जानवरों को पकड़ा जा रहा है। जानवरों को पकडऩे के दौरान नगरपालिका कर्मचारी अक्सर चोटिल भी हो रहे हैं और बताया जाता है कि इलाज के लिए जब वह अस्पताल पहुंचते हैं तो उनका उचित इलाज नहीं होता। 

एक कर्मचारी का हाथ फैक्चर होने पर जब अस्पताल में उसका इलाज नहीं हुआ तो उसने प्रायवेट अस्पताल में 1700 रूपए देकर प्लास्टर कराया। इससे कुपित होकर नगरपालिका उपाध्यक्ष अन्नी शर्मा ने सिविल सर्जन डॉ. गोविंद सिंह को इलाज की उचित व्यवस्था करने हेतु पत्र लिखा। 

नपा उपाध्यक्ष के अनुसार उनके पत्र के बाद भी इलाज की व्यवस्था नहीं है जिससे नगरपालिकाकर्मियों तथा नपा प्रशासन में आक्रोश बना हुआ है। बताया जाता है कि इस घटनाक्रम की जानकारी जब प्रभारी मंत्री प्रद्युम्र सिंह तोमर को मिली तो उन्होंने सिविल सर्जन डॉ. गोविंद सिंह की क्लास ले डाली।