पुलिस डायरी: 8 सालों से फरार 1 स्थाई वारण्टी को दबोचा, मुनीम जी ही करा रहे थे चोरी | Shivpuri News

शिवपुरी। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शिवपुरी राजेश हिंगणकर के निर्देशन में 1 मार्च को थाना प्रभारी पोहरी उनि. अरविंद सिंह चैहान द्वारा मुखबिर सूचना पर स्थाई वारण्टी अनिल कुमार पुत्र दशराथ राव निवासी उरवाई गेट को पुलिस टीम द्वारा दबिश देकर ग्वालियर से दबोचा गया।

 उक्त स्थाई वारण्टी को 279,337,304-ए भादवि के प्रकरण में पिछले 8 साल से फरार चल रहा था जिसेे दबोचकर माननीय न्यायालय पेश किया गया। इस कार्य में थाना प्रभारी पोहरी उनि अरविंद सिंह चैहान,सउनि विनोद गुर्जर,आर. कपिल, विवेकानन्द और राहुल की सराहनीय भूमिका रही।

वेयर हाउस का मुनीम ही करवाता था चोरी ,चोरी के माल सहित 4 आरोपियों को दबोचे
जिले के बदरवास थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले स्टैशन रोड़ बदरवास पर रात्रि में करीब 03:30 बजे दो मोटरसायकलों पर चार व्यक्ति अनाज के बोरे रखकर संदिग्ध अवस्था में ले जाते दिखे जिसे पुलिस पार्टी द्वारा आवाज देकर रोका तो दोनो ही मोटरसायकल लेकर कच्चे रास्ते में भागे तब रात्रि गश्त में लगे सभी चैकिंग पार्टियों को अलर्ट किया गया।

घेराबंदी की गई तो चारो व्यक्ति मोटरसायकल छोडक़र खच्चू कुशवाह के घर में घुसे तो पुलिस पार्टियों द्वारा उक्त चारों आरोपियों को दबोचकर नाम पता पूछने पर उन्होनें अपना नाम कल्याण सिंह पुत्र रामदयाल कुशवाह उम्र 32 साल, सोनू पुत्र रामदयाल कुशवाह उम्र 25 साल,गजेन्द्र पुत्र रामदयाल कुशवाह उम्र 27 साल,अजय पुत्र अर्जुन सिंह कुशवाह उम्र 21 साल निवासीगण वार्ड नंबर 14 कुशवाह मोहल्ला बारई रोड़ बदरवास का होना बताया । 

उक्त चोरों से पूछताछ करने पर पता चला कि आरोपी अजय कुशवाह मण्डी रोड़ पर कुशवाह बेयर हाउस में मुनीम हैं एवं स्वंय अपने तीन परिचितों को रात में फोन से बुलाकर वेयर हाउस की पीछे की खिडक़ी से चार उड़द के बोरे निकालकर बेचने के लिए ले जा रहा था, उक्त आरोपीगणों के कब्जे से एक मोटरसायकल पैशन प्रो क्रमांक एमपी 33 एमई 4405 एवं एक कालेरंग की एच एफ डीलक्स बिना नंबर की तथा चार बोरे उड़द के कीमती 8000 रू के जप्त किए। इन चोरों से अन्य अपराधों में भी पूछताछ जारी है।
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

-----------

analytics