ShivpuriSamachar.COM

Bhopal Samachar

महारानी ने संभाली महाराज के चुनाव की बागडोर, पति का हाथ मजबूत करने के लिए महिलाओं से सीधा संपर्क | kolaras, Shivpuri News

कोलारस। ज्योतिरादित्य सिंधिया के उप्र प्रभारी बनने के बाद और लोकसभा चुनाव से पहले अपनी पारंम्परिक गुना शिवपुरी सीट की बागडोर सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया की धर्मपत्नि श्रीमंत महारानी प्रियर्दशनीय राजे सिंधिया ने संभाल ली है। 

जिसके चलते बीते दिनो प्रियर्दशनीय राजे सिंधिया तीन दिवसिय दौरे पर शिवपुरी पहुंची और कोलारस, रन्नौद, खतौरा में ब्लाॅक कांग्रेस कमेटी महिला मण्डल की बैठक लेते हुए महिला पोलिंग कार्यकताओ से वन टू वन चर्चा की। इस दौरान प्रियर्दशनीय राजे सिंधिया ने कोलारस, रन्नौद, खतौरा में महिलाओ से रूबरू होते हुए महिला सशक्तिकरण के बारे में महिलाओ से चर्चा की और महिलाओ द्वारा राष्ट्रªनिर्माण में योगदान के बारे में बताया।

प्रियर्दशनीय राजे सिंधिया ने कहा की परिवार, समाज और कैरियर सभी में तालमेल बिठाने में नारी का कौशल काबिले तारीफ है। चुनौतियो का हसकर स्वागत करने वाली महिलाऐं आज हर क्षेत्र में आत्मनिर्भर है। साथ ही कोलारस में कांग्रेस महिला पोलिंग कार्यकताओ से बात करते हुए मतदान की अहमीयत को घर घर जाकर मतदान के लिए महिलाओ को अपने आस पास के लोगो को जागरूक करने की बात कही।

प्रियर्दशनीय राजे सिंधिया के कोलारस आगमन पर कोलारस नगर परिषद अध्यक्ष रविन्द्र शिवहरे, निशा शिवहरे, पूर्व विधायक महेन्द्र यादव, पवन शिवहरे, नीतू शिवहरे, भरत सिंह चैहान, धमेन्द्र रावत, रामबाबू शिवहरे, हरिओम रघुवंशी, ओपी भार्गव, गोलू गौड़, विपिन शर्मा, लक्ष्मण गुर्जर, हरिशंकर धाकड़, प्रहलाद यादव, नवल सिंह जाटव, श्रीमती जमुना, मुस्तरी बेगम, श्रीमती शोनू सैन, सहित महीला कार्यकताओ ने जोरदार स्वागत किया।

सेंकड़ो शिकायती आवेदन हुए प्राप्त - 

कांग्रेस महिला कार्यकता सम्मेलन में भाग लेने पहुंची प्रियर्दशनीय राजे सिंधिया को आखिर में महिलाओ की एक एक कर समस्या सुनी इस दौरान करीब 300 शिकाते प्राप्त हुई। जिनमें सबसे ज्यादा समस्या आवास के लिए थी। जिनहे सुनकर प्रियर्दशनीय राजे ने डायरी में नोट किया और महिलाओ को शिकायतो का समाधान कराने का आश्वासन दिया।
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

-----------

analytics