Ad Code

नपा में फिनोलेक्स की नकली केबल खपाने की तैयारी, लाखों का भ्रष्टाचार उजागर | Shivpuri News

शिवपुरी। शिवपुरी नगर पालिका भ्रष्टाचार के लिए हमेशा चर्चित रही हैं इसी कड़ी अब एक और बड़ा प्रमाणित भ्रष्टाचार उजागर हुआ हैं जिसमें शहर में संचालित नलकूपों में डाली जाने वाली विद्युत केबिल का ठेका शहर की मंगल पाईप एण्ड सेंनेट्री सप्लायर फर्म को दिया गया हैं और टेंडर की शर्त के अनुसार नगर पालिका में फिनोलेक्स कंपनी की केवल सप्लाई करना थी। 

लेकिन ठेकेदार ने अन्य कंपनी से नकली केबिल मंगाकर उस पर फिनोलेक्स लिखवाकर उसको सप्लाई कर दिया इस बात की जांच के दौरान की जा चुकी हैं। उल्लेखनीय है कि ठेकेदार द्वारा की गई नकली केबल की आपूर्ति की बजह से बार-बार केबल फुकने से जहां शहर में जलापूर्ति प्रभावित होती हैं वहीं नागरिकों को भी भारी परेशानी का सामना करना पड़ता हैं। ठेकेदार और नगर पालिका अध्यक्ष की सांठगांठ का खामियाजा शहर के नागरिकों को वेवजह ही भुगतना पड़ रहा हैं। 

वहीं पूर्व की परिषद में जब नकली केवल का मामला उछला था तभी सभी पार्षदों ने सर्व सम्मति से वैधानिक कार्यवाही की मांग रखी थी। फिनोलेक्स कंपनी द्वारा स्पष्ट रूप से कहा गया है कि ये केबिल हमारे यहां की नहीं है। पार्षदों की मांग एवं कंपनी द्वारा नकली करार दिए जाने पर ठेकेदार के विरूद्ध एफआईआर दर्ज की जा सकती हैं। विश्वस्त सूत्रों से मिलीे जानकारी के अनुसार ठेकेदार के साथ में नगर पालिका अध्यक्ष सुपुत्र की भागीदारी बताई जा रही हैं। जिसकी बजह से केवल सप्लाई में भारी भ्रष्टाचार किया गया हैं। 

शंका  होने पर परिषद ने जांच के लिए भेजी केबिल
शहर भर में संचालित नलकूपों में उपयोग की गई केबिल के बार-बार जल जाने एवं मोटर फुक जाने के कारण मामला परिषद में गरमाया। परिषद में यह निर्णय लिया गया कि क्यों न इस केबल जांच के लिए भेजा जाए। उपयोग की जाने वाली केबल का टुकड़ा काटकर जब फिनोलेक्स कंपनी को भेजा गया। तो उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा कि ये केवल हमारे यहां की आपूर्ति नहीं है इस पर केवल नाम फिनोलेक्स लिखा हैं। जो शासकीय मापदण्डों पर कभी खरी नहीं उतर सकती। आपूर्ति करने वाली कंपनी के विरूद्ध भी उन्होंने कार्यवाही करने की बात कहीं हैं। 

ठेकेदार लाखों की नकली केबिल खपा चुका हैं नपा में 
नगर पालिका द्वारा केबिल की सप्लाई की जिम्मेदारी मंगल पाईप एण्ड सेंनेट्री को सौंपी थी। जिसमें नगर पालिका द्वारा फिनोलेक्स कंपनी की केबिल की मांग की गई थी। लेकिन ठेकेदार द्वारा नगर पालिका अध्यक्ष से सांठ गांठ कर नकली केवल लगातार खपाई जाती रही। ठेकेदार द्वारा अब तक लगभग 50 लाख रूपए की  आपूर्ति की जा चुकी हैं। जिससे शासकीय खजाने को आर्थिक क्षति का सामना करना पड़ रहा है। ठेकेदार द्वारा आपूर्ति की गई केबिल जांच किए बगैर ही नगर पालिका द्वारा लगातार उपयोग की जाती रही। जिससे यह तथ्य स्पष्ट होता है कि ठेकेदार और नगर पालिका अध्यक्ष के तालमेल से नकली केवल खपाई जाती रही। 

ठेकेदार के खिलाफ हो सकती हैं एफआईआर 
शिवपुरी नगर पालिका में नलकूपों में लगाईर् जाने वाली फिनोलेक्स की केबिल की जगह ठेकेदार द्वारा नकली केबिल की आपूर्ति की गई हैं। जिसकी बजह से बार-बार केबिल व मोटरें फुक रही थी जिससे नगर पालिका को आर्थिक क्षति का सामना करना पड़ रहा था और शहर के नागरिकों को पानी भी समय पर सप्लाई नहीं हो पा रहा था। इस समस्या को लेकर पार्षदों ने परिषद की बैठक में मुद्दा उठाया और नकली केबिल सप्लाई करने वाली फर्म के विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराने की बात कहीं थी। लेकिन जब फिनोलेक्स कंपनी द्वारा नकली केबिल बताई जाने के बाद ठेकेदार के विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही होना लाजिमी हैं।