ShivpuriSamachar.COM

Bhopal Samachar

कलेक्टर अनु्ग्रह पी ने पत्रकार वार्ता में माना काफी चुनौतिया हैं जिले में, डटकर मुकाबले करेंगें | Shivpuri News

शिवपुरी। नवागत जिलाधीश श्रीमती अनुग्रह पी को पद भार संभालते ही जिले की मिडिया से औपचारिक मुलाकात की। कलेक्टर अनुग्रह पी ने माना काफी चुनौतिया है शिवपुरी जिले में हम सब मिलकर इन चुनौतियो से डटकर मुकाबले करेंंगें।

सबसे पहली चुनौती शिवुपरी की पेयजल की है। सर्व प्रथम सिंध जलावर्धन योजना को अंजाम तक पहुंचाना जिससे लगभग ढाई लाख आवादी को पेयजल समस्या से निजात मिल सकेगी। शिवपुरी विधायक यशोधरा राजे सिंधिया के सहयोग से स्मार्ट सिटी प्रोजेक्टर के दायरे में लाए गए शिवपुरी शहर को व्यवस्थित करना उनकी दूसरी प्रमुख चुनौती हैं। 

इसके अलावा शहर के मध्य से एनएच-3 को फोर लाईन में परिवर्तित करने के दरम्यान हटाए जाने वाले अतिक्रमण, सार्वजनिक वितरण प्रणाली को शुचारू करना, अवैध खनन पर अंकुश लगाना, ग्रामीण क्षेत्र में स्कूली शिक्षा और मध्यान्ह भोजन जैसी बड़ी योजना को शुचारू बनाए रखना नवनिर्मित मेडीकल कॉलेज और अस्पताल को अधिकतम जनहितकारी बनाया जाना भी एक चुनौती है।

शहरी और ग्रामीण इलाकों में भू माफियाओं पर अंकुश लगाना और किसानों के माफ किए गए ऋणों का न्याय पूर्ण समाधान, महिला सुरक्षा, अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार के मामलों पर अंकुश लगाना जिले के अंदर सिंचाई परियोजनाओं को अपने अंजाम तक पहुंचाना प्रमुख चुनौतियां होगी। वहीं आगामी लोकसभा चुनाव 2019 का कार्य भी चुनौतियों में प्रमुख रूप से शुमार रहेगा। 
-
स्वास्थ्य व्यवस्था पर देना होगा विशेष ध्यान 
शिवपुरी जिले में पिछले काफी समय जिले के स्वास्थ्य सेवायें चरमराई हुई हैं। जिसमें चिकित्सकों के बीआरएस ले लिया था जिसके कारण जिले में काफी समय से आईसीयू जैसे कई प्रकल्पों पर ताले पड़े हुए हैं। साथ ही मेडीकल विभाग में चिकित्सकों की कमी होने के कारण ग्रामीण क्षेत्र से आने वाले मरीजों को स्वास्थ्य सुविधायें मुहैया कराना और उनको स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ दिलाना एक बहुत बड़ी चुनौती होगी। जिससे आम नागरिक को स्वास्थ्य सुविधा समय पर उपलब्ध हो सके। 

जलावर्धन योजना को धरातल पर उतारना बड़ी चुनौती
जलावर्धन योजना को निरीक्षण कर उसे धरातल पर उतारना बहुत बड़ी चुनौती हैं। क्योंकि योजना शहर की जनता से जुड़ी हुई हैं और आने वाले समय में शहर में भीषण पेयजल संकट का सामना शहर की जनता को करना पड़ेगा। इसलिए इस योजना पर जिलाधीश को कार्य करना साथ ही शहर में डिस्ट्रीब्यूशन लाईन बिछवाना एक बहुत बड़ी चुनौती हैं।  जिसके लिए नगर पालिका से ठेकेदार से कार्य करना ही एक बहुत बड़ी चुनौती हैं। 

स्मार्ट सिटी को रेगुलाईट करना बड़ी चुनौती
शिवपुरी को मिले स्मार्ट सिटी में लिया गया हैं जिसको रेगुलाईट करना भी एक बहुत बड़ी चुनौती हैं जिसमें शहर का डबलपमेंट करना साथ व्यवस्थित तरीके से शहर में पार्किग के साथ शहर को डबलप करना हैं और साथ ही शहर में बढ़ते अतिक्रमणों पर रोकलगाना एक बहुत बड़ी चुनौती हैं। साथ ही शहर के बीचों बीच से निकलने वाले एनएच-3 को फोर लाईन में परिवर्तित उसको व्यवस्थित तरीके से अंजाम तक पहुंचाना हैं। 

किसानों की कई समस्याओं पर देना होगा विशेष ध्यान
वही जिले में इन दिनों किसानों अपनी फसल में पानी देने के लिए विद्युत व्यवस्था की समस्या से निजात दिलाने के साथ-साथ  किसानों को यूरिया खाद उपलब्ध करना और हाल ही में कांग्रेस की सरकार किसानों की कर्ज माफी योजना को धरातल तक उतारना और उन्हें उस योजना का लाभ दिलाना सबसे बड़ी चुनौती रहेगी। जिसका सामना नवागत जिलाधीश श्रीमती अनुग्रह पी को करना पड़ेगा। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

-----------

analytics