Ad Code

प्रहलाद के प्रर्दशन के कारण हारी बसपा,ये उम्मीद नही थी,राजनीतिक पंडितो को


शिवपुरी। चुनाव के नतीजे आ चुके है। अब पोहरी ने विधायक है सुरेश राठखेडा,जीत की बधाई। पोहरी से एक अजीब से चौकाने वाले परिणाम सामने आए है यह नही कि सुरेश राठखेडा जीते है,चौकाने वाली बात है कि 2 बार के विधायक प्रहलाद भारती तीसरे नबंर पर आए हैं। राजनीतिक पंडितो को यह चौकाने वाली बात हैं।

शिवपुरी समाचार डॉट कॉम ने यह खबर चुनावो की बीच प्रकाशित की थी कि दूर हो रहा है प्रहलाद भारती का समाज खिसक सकती है जमीन, यह बात सच साबित हुई हैं। आम तौर पर देखा जाता है कि जहां बसपा बडती है वहां कांग्रेस को नुकसान होता है। पोहरी शुद्ध् रूप से जातिगत समीकरण की सीट हैं। यहां राजनीति का मुददा काम नही करता है सिर्फ जातिवाद फैक्टर काम करता हैं।

लेकिन यहां उल्टा हुआ भाजपा घटी तो बसपा को नुकसान हो गया। राजनीतिक समीकरण बन रहा था कि भाजपा—कांग्रेस के इस युद्ध् में दोनो के लडने के कारण बसपा को फायदा होगा,लेकिन धाकड समाज ने भाजपा के प्रत्याशी प्रहलाद भारती को नाकार दिया,लडाई भााजपा और कांग्रेस में नही हुई बल्कि बसपा और कांग्रेस के बीच हो गई। टक्कर में भाजपा कही से कही तक नही दिखी। अगर भाजपा का प्रर्दशन उच्च होता तो यहां गणित और कोई बनता दिखता। अब राजनीतिक पंडितो को कहना की प्रहलाद भारती के निम्न स्तर तक के प्रर्दशन के कारण ही बसपा पीछे खिसकी है। 

इस चुनाव मे कांग्रेस को 60664 वोट मिले है,वही बसपा को 52736 वोट मिले है और भाजपा को 35741 वोट मिले है। जिले में पोहरी विधानसभा की पांचो सीटो में पोहरी विधानसभा में भाजपा का सबसे घटिया प्रर्दशन किया हैं। इसका मुख्य कारण धाकड समाज ने इस चुनाव में प्रहलाद भारती को नकार दिया ओर धाकड समाज ने मंथन सही साबित हुआ कि दोनो को वोट दिए तो दोनो हार जाऐगें,ओर बसपा जीत सकती है।