अधिकारी पूरी मुस्तैदी के साथ करें निर्वाचन का काम, उपमुख्य निर्वाचन आयुक्त ने दिए निर्देश | Shivpuri News

शिवपुरी। भारत निर्वाचन आयोग के उपमुख्य निर्वाचन आयुक्त चंद्रभूषण कुमार ने शिवपुरी जिले की पांचों विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान हेतु अभीतक की गई तैयारियों की समीक्षा करतें हुए अधिकारियों को निर्देश दिए कि मतदान के सात दिन शेष है। अतः सभी अधिकारी पूरी मुस्तैदी, ईमानदारी एवं निष्ठा के साथ भारत निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए कार्य संपादित करें। 

भारत निर्वाचन आयोग के उपमुख्य निर्वाचन आयुक्त चंद्र भूषण कुमार ने उक्त आशय के निर्देश आज शिवपुरी जिले में अभीतक की गई चुनावी तैयारियों की समीक्षा बैठक में दिए। जिलाधीश कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित बैठक में भारत निर्वाचन आयोग के निदेशक विक्रम बत्रा, मध्यप्रदेश मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी बी.एल.कांताराव, ग्वालियर संभागायुक्त बी.एम.शर्मा, आई.जी. ग्वालियर अंशुमान यादव, डीआईजी मनोहर वर्मा, कलेक्टर श्रीमती शिल्पा गुप्ता, पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकर, अपर कलेक्टर अशोक कुमार चौहान, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी राजेश जैन, उपजिला निर्वाचन अधिकारी मकसूद अहमद सहित निर्वाचन कार्य से जुड़े आदि अधिकारी उपस्थित थे।

उपमुख्य आयुक्त चंद्र भूषण कुमार ने मतदान की तैयारियों की समीक्षा करते हुए कहा कि ऐसे प्रयास किए जाए कि मतदाता अपने मताधिकार शत्प्रतिशत उपयोग करें। उन्होंने मतदान केन्द्र पर मतदान के दौरान की जाने वाली सुरक्षा व्यवस्थाओं की समीक्षा करते हुए कहा कि जिले की सीमाए अन्य राज्यों जुड़ी होने के कारण विशेष सतर्कता बरती जाए और सीमाओं से आने वाले लोगों पर विशेष निगरानी रखें। उन्होंने निर्वाचन कार्य से जुड़े सभी शासकीय सेवकों से कहा कि हमारा दायित्व है कि मतदान स्वतंत्र, निष्पक्ष रूप से हो और मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग कर सके।

उन्होंने अधिकारियों से जानना चाहा कि निर्वाचन से संबंधित किसी भी प्रकार की समस्या या परेशानी है तो उसे निःशंकोच होकर बताए। चंद्र भूषण कुमार ने जिले में मतदाताओं को मतदान के प्रति जागरूक किए जाने हेतु जिले में स्वीप के तहत संचालित विभिन्न गतिविधियों की जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने पोस्टल बैलेट पेपर का उपयोग एवं सर्विस वोटर तथा मतगणना के संबंध में भी जानकारी ली। 

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी बी.एल.कांताराव ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिए कि भारत निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों के अनुरूप पूरी मुस्तैदी के साथ निर्वाचन कार्य संपादित कराए। उन्होंने कहा कि आने वाले 7 दिनों एवं मतदान के पूर्व 48 घण्टों में विशेष सर्तकता बरतने की आवश्यकता है। इस दौरान कानून व्यवस्था बनाए रखते हुए किसी भी प्रकार की अवैध गतिविधियां न हो। संभागायुक्त श्री शर्मा ने ग्वालियर संभाग में शांतिपूर्ण मतदान संपादित कराए जाने हेतु की जाने वाली व्यवस्थाओं के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि एफएसटी, एसएसटी दल द्वारा कार्यवाही की गई है। उन्होंने बताया कि उत्तरप्रदेश एवं राजस्थान के प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों की बोर्डर मीटिंग भी आयोजित की जा चुकी है। 

कलेक्टर श्रीमती शिल्पा गुप्ता ने जिले में मतदान हेतु अभीतक की गई तैयारियों एवं व्यवस्थाओं के संबंध में विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि अभीतक 1400 से अधिक मतदान कर्मियों ने डाक मतपत्र के माध्यम से अपने मताधिकार का उपयोग किया जा चुका है। शेष बचे मतदानकर्मी 22 नवम्बर से 25 नवम्बर 2018 तक कलेक्ट्रेट कार्यालय में स्थापित बूथ पर डाक मतपत्र से अपने मताधिकार का उपयोग कर सकेंगे। जिला मुख्यालय पर ईव्हीएम एवं वीवीपेट के कमीशनिंग का कार्य जारी है। श्रीमती गुप्ता ने बताया कि स्वीप कार्यक्रम के तहत विशेष अभियान संचालित कर मतदाता जागरूकता से संबंधित जिले में विभिन्न स्तरों पर गतिविधियां आयोजित की गई है। 

ऐसे प्रयास किए गए है कि कम से कम 80 प्रतिशत मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग कर सके। उन्होंने जिले में विभिन्न नोडल अधिकारियों द्वारा किए जा रहे कार्यों से भी अवगत कराया। बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री राजेश हिंगणकर ने मतदान के दौरान जिले में की गई सुरक्षा व्यवस्था, एफएसटी एवं एसएसटी दलों के संबंध में जानकारी दी। 

22 से 25 नवम्बर तक डाकमतपत्र का उपयोग कर सकेंगे

विधानसभा निर्वाचन 2018 हेतु मतदान कार्य संपादित कराए जाने हेतु नियुक्त किए गए मतदानकर्मियों, माइक्रो आब्जर्वर, कोटवार, वनपाल, बसचालक आदि जो डाक मतपत्र से अपने मताधिकार का उपयोग नहीं कर सके है, वे 22 नवम्बर 2018 से 25 नवम्बर 2018 तक जिलाधीश कार्यालय में बनाए गए डाक मतपत्र बूथों पर डाक मतपत्र के माध्यम से अपने मताधिकार का उपयोग कर सकेंगे।
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics