Ad Code

ट्रोल होते ही हरकत में आया प्रशासन, रातों रात कराया टायलेट का निर्माण

शिवपुरी। खबर शहर के देहात थाना क्षेत्र के लुधावली से आ रही है। जहां बीते रोज सोशल मीडिया पर एक उजड़ते घर को संभालने का जिम्मा अपने हाथ में लेने वाली मीडिया की मेहनत रंग लाई है। मीडिया की इस पहल के बाद प्रशासन की किरकरी सोशल मीडिया पर होने लगी। इस किरकरी से बचने के लिए नगर पालिका ने तत्काल नियमों को ताक पर रखकर इस टायलेट का निर्माण रातों रात करा दिया।

विदित हो कि बीते 4 माह पूर्व परिवार परार्मश केन्द्र में एक मामला आया था। जिसमें जितेन्द्र शाक्य निवासी लुधावली की पत्नि घर में शोचालय न होने के चलते अपने ससुराल नहीं आ रही थी। इस मामले को लेकर पीड़ि़त युवक कई बार नगर पालिका के चक्कर लगाता रहा। परंतु इस भ्रष्टाचार के गढ नगर पालिका में युवक की कोई सुनवाई नहीं हुई। बीते रोज उक्त युवक ने अपनी व्यथा शहर के सक्रिय पत्रकारों को सुनाई तो उन्होंने तत्काल मुहिम चालू कि और शौसल मीडिया पर शौचालय निर्माण में सहयोग की अपील की। 

इस अपील के बाद यह मामला सोशल मीडिया पर वायरल हो गया और लोग एक के बाद एक इस मुहिम में शामिल हो गए। लोग प्रशासन ट्रोल करने लगे। बस फिर क्या था सोशल मीडिया की यह मुहिम रंग लाई और तत्काल नगर पालिका प्रशासन कल शाम को युवक के घर मजदूरों को लेकर पहुंचा। उसके बाद नगर पालिका की टीम ने तत्काल में ही चमत्कार दिखाते हुए महज 4 घण्टे में टॉयलेट का निर्माण करा दिया। उसके बाद प्रशासन ने जितेन्द्र से कहा कि वह इस टॉयलेट के निर्माण की बात आचार संहिता के लगने से पहले की कहे। 

बस फिर क्या था अपने घर में जिस शौचालय के लिए वह नगर पालिका का चक्कर लगा रहा था अब नगर पालिका उसके घर का चक्कर लगाकर तत्काल में शौचालय का निर्माण करा गई। निर्माण देखकर युवक ने नगर पालिका का धन्यवाद करते हुए एक 14 सेकेण्ड का वीडियों भी बनाया जिसमें वह अपने घर में शौचालय निर्माण 10 दिन पहले होने की बात कहने लगा। 

मामले को तूल पकड़ता देख मीडिया के साथी युवक के घर पहुंचे और पड़ोसियों से पूछा तो उन्होंने बताया कि यह तो चमत्कार हो गया। बीते रोज एक टीम आई और 4 घण्टे में की शौचालय का निर्माण कर गई। हांलाकि प्रशासन शौचालय का निर्माण 10 दिन पहले करने की बात कह रहा है। इस मामले में जब मीडिया ने युवक के परिजनों से ग्रह लक्ष्मी को लाने की बात कही तो उन्होंने आज शाम को ग्रह लक्ष्मी को लाकर फोटों खिचाकर भेज दिए। खेर जो भी हो सोशल की ताकत के आगे आज जिला प्रशासन झुक गया और एक युवक का टूटता हुआ घर बच गया।