Ad Code

हौसले की ब्रांड है दिव्यानी: 1 हाथ नहीं है फिर भी 2 हाथ वालों को दे रही है मात | Shivpuri News

शिवपुरी। शिवपुरी के मानस भवन में जारी टेबल टेनिस प्रतियोगिता में यूं तो प्रदेशभर से टेबल टेनिस के खिलाड़ी अपनी खेल प्रतिभा दिखा रहे हैं, लेकिन यहां महज 14 साल की खिलाड़ी का प्रदर्शन देखकर हर आंख ठहर जाती है। पूरी तरह हाथों के बैलेंस का खेल माने जाने वाले टेबल टेनिस खिलाडी इंदौर की दिव्यानी का खेल देख दांतों तले उंगली दबा लेते हैं लोग। 

शिवपुरी के मानस भवन में जारी टेबल टेनिस प्रतियोगिता में यूं तो प्रदेशभर से टेबल टेनिस के खिलाड़ी अपनी खेल प्रतिभा दिखा रहे हैं, लेकिन यहां महज 14 साल की खिलाड़ी का प्रदर्शन देखकर हर आंख ठहर जाती है। पूरी तरह हाथों के बैलेंस का खेल माने जाने वाले टेबल टेनिस में कल्पना से परे इंदौर की दिव्यानी वाहले जन्मजात एक हाथ नहीं है, लेकिन वे जिस तरह खेल का प्रदर्शन कर रहीं है उसे देख लोग न केवल दांतों तले उंगली दबा लेते हैं बल्कि उसके हौंसले की दाद देते नहीं थकते। 

बकौल दिव्यानी वह पिछले पांच साल से टेबल टेनिस खेल रही है। शुरूआत में थोड़ी दिक्कत आई, लेकिन हौसले के बूते वे आज राष्ट्रीय स्तर पर ही नहीं बल्कि अंतराष्ट्रीय स्तर पर भी टेबल टेनिस में अपनी प्रतिभा का जौहर दिखा चुकी हैं। दिव्यानी कहती हैं कि उन्हें सबसे ज्यादा हौसला उनके परिजनों और कोच ने दिया और उनकी मंजिल है कि वे देश के लिए अंतराष्ट्रीय स्तर पर मैडल जीतकर लाएं।