मोहनी डेम में डूब गए थे 7 बच्चे, 5 को ग्रामीणों ने बचा लिया, 2 डूब गए | narwar

नरवर। शिवपुरी जिले के नदी नाले झारनें एवं जलाशय आदि चारों ओर से प्रक्रतिक सौन्दर्य की चादर ओडे होकर, विध्याचंल पर्वत श्रृख्लाओं के आगोष में होकर स्थानीय व गैर स्थानीय पर्यटकों के लिये मौज मस्ती के केन्द्र बने हुये जहाॅ पर लोग डैम की लाईनिंगों पर एवं डैम की लाईनिंग पर पानी भराव के क्षेत्र की ओर खतरा मौल लेते हुये सैल्फी लेकर आनंदित हो रहे है।वही कुछ लोग बिना जान की परवाह किये बगैर नदी के गैहरे कुण्डों में मछली पकडने का आंनद लेने के फेर में, मौत की मुंह में जाने से भी बाज नही आ रहे है, परिणाम स्वरूप जिले के विभिन्न पर्यटक स्थलों पर लोगो द्वारा मौत को गले लगाने का क्रम जारी बना हुआ है। 

विदित हो कि अभी हाल ही में सुभाषपुरा थाना क्षेत्र के सुल्तानगढ फाल्स में लगभग एक दर्जन लोगो की मौतों एवं लगभग 04 दर्जन लोगो को रेस्क्यू पर बचाये जाने के बाद की घटना के बाद भी पर्यटक स्थलों पर भ्रमण के दौरान खतरा मौल लेने वाले लोगो की मौतों का सिलसिला जिले में थमने का नाम नही ले रहा है। 

आज शायःकाल करीब 04 बजे के समय शिवपुरी जिला मुख्यालय से नरबर के मोहनी डैम पर अपने फूपा व कन्ट्रोल के चोकीदार रामदास बाथम के यहाॅ ग्राम ख्यावदा में घूमने आये शिवपुरी जिला मुख्यालय के बाथम समुदाय के 07 लोग, डैम के 25 हैड रेडियल गैटों के ऊपर, कन्ट्रोल रूम एवं डैम की लाईनिंग आदि के भ्रमण के बाद, डैम के हैड रेडियल गैटों के ठीक नीचे सिंध नदी के गहरें कुण्डों में भारी रिस्क लेते हुये नाहनें के लिये उतर गये। 



जानकारी के अनुसार पर्यटक नरवर क्षेत्र के ना होने के कारण उन्हें सिंध नदी के गहरेें अथाह कुण्डों की जानकारी ना होने के कारण वह अचानक नदी में डूबने लगे। घटना के लगभग 01 घंटे बाद जब पर्यटकों के फूपा व मोहनी कन्ट्रोल रूम से चोकीदार रामदास बाथम को उसके रिश्तेदार लापता दिखे तो कुण्ड में से तैरकर आये एक व्यक्ति की पुकार पर मोहनी एवं ख्यावदा के तैराकों को ने शीघ्र पानी में तैरकर डूबते लोगो को बचाने का प्रयास कर दिया गया। 

तभी सिंधनदी के गैहरें कुण्डों में से ग्रामीणों द्वारा 07 में से 05 लोगो हेमन्त बाथम, टिवंकल मांझी, गोपाल बाथम, श्रीकांत, व रामदास को सकुशल बचा लिया गया जबकि घटना में शैली उर्फ दर्शन आयु 20 साल पुत्र कैलाश मांझी निवास लक्ष्मीनिवास के पास सराय मोहल्ला शिवपुरी एवं रविराज आयु - 24 साल पुत्र बादाम बाथम निवासी मोहनी सागर कालौनी शिवपुरी की मौत हो गई।

घटना की सूचना मिलते ही मगरौनी चोकी प्रभारी वीरेश कुशवाह एवं नरबर थाना प्रभारी बादामसिंह यादव पुलिस बल एवं बचाव दल के साथ तुरंत घटना स्थल पर पहुॅचकर बचाव दल की हौसला अफजाई की गई। घटना की सूचना मिलते ही नरबर तहसीलदार श्रीमती कल्पना कुशवाह ने भी चिकित्सालय पहुॅचकर अपने राजस्व कर्मचारियों को नदी नालों एवं क्षेत्र के कभी जलाशयों डैमों नदी नालों आदि के करीब लोगो को ना जाने हेतु क्षेत्र में कोटवारों आदि के माध्यम से प्रचार प्रसार कर लोगो को हिदायत दिये जाने के निर्देश दिये गये है।

Comments

Popular posts from this blog

Antibiotic resistancerising in Helicobacter strains from Karnataka

जानिए कौन हैं शिवपुरी की नई कलेक्टर अनुग्रह पी | Shivpuri News

शिवपरी में पिछले 100 वर्षो से संचालित है रेडलाईट एरिया