चलित थाना: आप निश्चित रहे आपका SP आपके पास चलकर आया है

करैरा। जिले के करैरा के ग्राम पंचायत टीला में चलित थाना लगाया गया जिसमें ग्राम पंचायत टीला, खैराई, जुझाई, निचरौली, काली पहाड़ी पंचायतों के अनेक ग्राम वासियों द्वारा अपनी-अपनी समस्यायें पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकर को बतायी गयी। जिसमें पुलिस अधीक्षक द्वारा ग्राम वासियों की समस्याओं का मौके पर ही निराकरण किया गया। इस चलित थाना शिविर में 148 आवेदकों द्वारा अपनी अलग-अलग समस्याओं को लेकर आवेदन पंजीबद्ध कराये गये जिनमें सबसे ज्यादा आवेदन 62 पंचायत से संबंधित, बृद्धा अवस्था पेंशन, बी.पी.एल कार्ड, पुलिस से संबधित 34, राजस्व से संबंधित 26, बिजली विभाग से संबंधित 22 व पी.डब्लू.डी., सिचाई विभाग, वन विभाग, स्वास्थ्य विभाग से संबंधित 01 - 01 शिकायती आवेदन पत्र प्राप्त हुये। 

इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकर द्वारा अपने उद्बोधन में चलित थाने की आवश्यकता के बारे में बताया गया कि एक गरीब, परेशान आदमी जिले में पुलिस अधीक्षक कार्यालय जाकर किराया, आवेदन टाइप का खर्चा आदि करने में असमर्थ एवं परेशान रहता है। वह और परेशान न हो इसके लिये हमारा यह प्रयास है कि हम गाँव - गाँव जाकर चलित थाने लगाकर लोगों की समस्याओं का निराकरण मौके पर ही करें। 

गरीब आदमी को उचित न्याय मिल सके। लोगों की शिकायतों का मौके पर ही दोनों पक्षों की काउन्सिलिंग कराकर उसका निराकरण किया जा सके यदि अपराध पंजीबद्ध करने की आवश्यकता हुई तो मौके पर ही शून्य पर अपराध कायम किया जावेगा। साथ ही बुजुर्गों का सम्मान ही मेरी पहली प्राथमिकता रहेगी जिसमें मेरा कोई सम्मान नही होगा ये कार्यक्रम हमारा है पुलिस अधीक्षक द्वारा बुजुर्ग महिला एवं पुरूषों का माल्यार्पण कर उनका सम्मान किया गया। इस दौरान पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह हिंगणकर ने कहा कि आप निश्चिंत रहे आपका एसपी आपके पास चलकर आया है। 

चलित थाने में ग्राम रहगवाँ, मजरा हाथरस के आवेदक मनीराम जाटव द्वारा बताया गया कि मेरा छोटा भाई अच्छेलाल व उसकी पत्नी अनीता जाटव द्वारा आये दिन जान से मारने की धमकी देते रहते है व घर पर नही रहने देते है। मामले को गंभीरता से लेते हुये पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकर द्वारा मौके पर ही एक टीम गठित कर दोनों पक्षों की काउन्सिलिंग कराकर उनमें समझौता कराया गया।

इसी प्रकार ग्राम टीला के रघुवर परिहार एवं उसकी पत्नी सावित्री बाई द्वारा बताया कि मेरी जमीन को गाँव के ही सिरनाम बघेल द्वारा अवैद्य रूप से जोत कर उस पर खेती की जा रही है तथा जिसका सीमांकन मेरे समक्ष कराया जाये जिसपर से पुलिस अधीक्षक द्वारा एसडीएम करैरा से सीमांकन की बात कही और मौके पर पटवारी एवं पुलिस बल को भेजकर सीमांकन कराया गया। जिसमें कब्जा की हुई जमीन को मुक्त कराया गया एवं दोनों पक्षों द्वारा राजीनामा पेश किया गया।

इसी क्रम में ग्राम टीला के ग्राम वासियों द्वारा एक पंचनामा देकर बताया गया कि हमारी फसलों को जंगली जानवरों द्वारा नष्ट किया जा रहा है जिसपर पुलिस अधीक्षक द्वारा वन विभाग के अधिकारियों से चर्चा कर नष्ट हुई फसलों के लिये सहायता राशि दिलाने के लिये कहा गया।

इसी क्रम में आवेदक बसंता पुत्र पंचा जाटव निवासी खैराई ने अपनी एक बीघा जमीन रमेश पुत्र गरीबा जाटव को बेच दी थी जो कि रमेश जाटव द्वारा एक बीघा से अधिक जमीन पर कब्जा कर लिया है व मुझे मारने की धमकी देता है। जिस पर से पुलिस अधीक्षक द्वारा एक टीम गठित कर पटवारी के साथ मौके पर भेजकर निराकरण कराया गया जिसमें दोनों पक्ष सहमत हुये व रमेश द्वारा कब्जा की गयी जमीन छोड़ दी गयी व दोनों पक्षों द्वारा राजीनामा पेश किया गया।

इसी क्रम में एक बुजुर्ग महिला रमकूबाई द्वारा बताया कि हमारी सम्मिलित कृषि भूमि पर कपिल धारा योजना के अंतर्गत शासन द्वारा कुँआ आवंटित हुआ है जिसमें मेरे बेटे रोशनलाल, महेश, सेवाराम एवं शालिगराम द्वारा कुआ खोदने नही दिया जा रहा है। जिस पर से पुलिस अधीक्षक द्वारा उनकी आपस में काउन्सिलिंग कराकर सभी पुत्रों की सहमति देकर राजीनामा कराया गया। 

इस अवसर पर अति. पुलिस अधीक्षक कमल मौर्य, एसडीएम करैरा श्री सिकरवार, एसडीओपी करैरा बी.पी तिवारी, तहसीलदार करैरा श्रीमती परमार,टीआई करैरा प्रदीप वाल्टर एवं अनुविभाग के समस्त थाना प्रभारी, स्वास्थ्य विभाग से डॉ. प्रदीप शर्मा एवं ग्राम पंचायतों से आये हुये सैकड़ों आवेदक उपस्थित रहे। अगला चलित थाना अनुविभाग कोलारस के ग्राम पंचायत भड़ौता में दिनाँक  21.07.2018 को लगाया जावेगा।
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics