असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का पंजीयन कराकर उन्हें योजनाओं का लाभ दिलाए: कलेक्टर गुप्ता

शिवपुरी। कलेक्टर श्रीमती शिल्पा गुप्ता ने समय-सीमा के पत्रों की समीक्षा करते हुए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एवं संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि मुख्यमंत्री जनकल्याण (संबल) योजना के तहत असंगठित क्षेत्र के मजदूरों के परिवारों की प्रसूताए (प्रसूति सहायता) योजना के लाभ से वंचित न रहे। इसके लिए सभी प्रसूताओं का पंजीयन कराकर योजनाओं का लाभ दिलाए। जिलाधीश कार्यालय के सभाकक्ष में आज समय-सीमा (टी.एल.) की आयोजित बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री राजेश जैन सहित सभी जिला कार्यालय प्रमुख आदि उपस्थित थे। 

कलेक्टर श्रीमती शिल्पा गुप्ता ने समय-सीमा के पत्रों की विभागवार समीक्षा करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री जनकल्याण (संबल) योजना राज्य सरकार का महत्वकांक्षी कार्यक्रम है। इस कार्यक्रम के तहत असंगठित क्षेत्र के पंजीकृत श्रमिकों के परिवारों को विभिन्न योजना के तहत लाभ पहुंचाना है। 

इसके लिए हमें अधिक से अधिक श्रमिकों का पंजीयन कराकर योजनाओं का लाभ दिलाने हेतु उन्हें प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि जिले में असंगठित क्षेत्र के लगभग 5 लाख 7 हजार श्रमिकों का पंजीयन पोर्टल पर हो चुका है। जिन्हें विद्युत वितरण कंपनी की सरल बिजली बिल एवं मुख्यमंत्री बकाया बिजली बिल माफी योजना के तहत 200 रूपए का बिजली बिल की सुविधा देनी है। 

उन्होंने कहा कि असंगठित क्षेत्र के इन श्रमिकों के परिवार की ऐसी प्रसूताएं जिनका पंजीयन नहीं हुआ है, उन्हें चिंहित कर पंजीयन कराकर प्रसूता योजना का लाभ दिलाए। उन्होंने कहा कि असंगठित क्षेत्र के श्रमिक की मृत्यु होने पर परिजनों को अंत्येष्टि की 5 हजार रूपए की राशि भी प्राथमिकता के आधार पर उपलब्ध कराई जाए। इसके लिए प्रत्येक ग्राम पंचायत में 10 हजार रूपए की राशि रखी गई है। 

उन्होंने उपसंचालक सामाजिक न्याय को निर्देश दिए कि हितग्राहियों को शासन की मिलने वाली विभिन्न पेंशन योजनाओं एवं कल्याणी पेंशन योजनाओ में हितग्राहियों का 10 जुलाई तक शत-प्रतिशत सत्यापन कर रिपोर्ट दें। 

कलेक्टर श्रीमती गुप्ता ने सभी जिला अधिकारियों को निर्देश दिए कि उनके अधीनस्थ ऐसे अधिकारी एवं कर्मचारी जो निलंबित है, उन प्रकरणों में चेतावनी एवं विभागीय जांच शुरू कर तत्काल निराकरण की कार्यवाही करें। सेवानिवृत्त कर्मचारियों के क्लेम भी लंबित न रहे। इनके भुगतान की कार्यवाही में भी तत्परता के साथ कार्य करें। 

श्रीमती गुप्ता ने मुख्यमंत्री तीर्थदर्शन योजना के तहत विभिन्न तीर्थस्थलों पर जाने वाले यात्रियों की समीक्षा करते हुए जिला शहरी विकास अभिकरण के अधिकारी को निर्देश दिए कि यात्रा पर जाने वाले यात्रियों की सूची कलेक्ट्रेट परिसर, जनपद एवं नगरीय निकाय, जिला शहरी विकास अभिकरण, कार्यालयों में भी चस्पा की जाए। 

जिससे तीर्थ यात्रा पर जाने वाले यात्रियों को भी जानकारी मिल सके। बैठक में बताया कि एक अगस्त से 15 अगस्त तक सभी ग्राम पंचायतो में ग्राम स्वराज अभियान के माध्मय से ग्रामीणों को विभिन्न विभागों की गतिविधियों से अवगत कराया जाएगा। बैठक में सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों की भी समीक्षा की गई। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics