कोलारस में मुख्यमंत्री जन कल्याण कार्यक्रम फ्लॉप, सोते रहे अफसर, खाली पड़ी रही कुर्सियां

कोलारस। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा शुरू की गई मुख्यमंत्री जन कल्याण संबल योजना के अन्तर्गत जिले की जनपद स्तरीय सम्मेलन का आयोजन जनपद पंचायत और नगर परिषद द्वारा किया गया। इस कार्यक्रम जनप्रतिनिधियो के अतिथ्य में वरिष्ठ अधिकारीयो के मौजूदगी मे प्रात:11 बजे किया गया। मुख्यमंत्री जन कल्याण संबल योजना को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दोपहर 1 बजे एलईडी के माध्यम से लाईव प्रसारण किया गया। जिसके बाद मुख्यमंत्री जन कल्याण संबल योजना के तहत नगर परिषद, जनपद पंचायत, वन विभाग, स्वास्थ विभाग के अलावा अन्य विभागो में संचालित योजनाओं में पात्र हितग्राहियों को लाभान्वित किया गया।

खाली पड़ी रही कुर्सीयां -
यह पूरा कार्यक्रम मौजूदा तौर पर अधिकारियो की कारगुजारी के चलते पूरी तरह से विफल साबित हुआ कार्यक्रम में करीब 2000 लोगो के बैठने कि वयवस्था कि गई थी लेकिन कार्यक्रम में बमुस्किल 300 लोग पहुचे और कार्यक्रम के दौरान कुर्सीयां खाली पड़ी रही। बताया जाता है कार्यक्रम का जिम्मेदारो ने सही से प्रचार प्रसार नही किया जिससे यह हालात निर्मित हुए।

मुख्यमंत्री के प्रसारण के दौरान सोते रहे कोलारस एसडीएम
मुख्यमंत्री जन कल्याण संबल योजना कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान का लाइव भाषण 1 बजे प्रारम्भ हुआ। इस दौरान जनप्रतिनिधी मुख्यमंत्री द्वारा बताई जा रही योजनाओ गौर से सुन रहे थे। लेकिन इसी बीच कोलारस एसडीएम प्रदीप तोमर कुर्सी पर सोते देखे गए। इसी से क्षेत्र में अफसरशाही का अंदाजा लगाया जा सकता है कि मुख्यमंत्री के लाइव प्रसारण के दौरान कोलारस एसडीएम का सोना अफसरशाही को उजागर करता है। कार्यक्रम के दौरान यह मामला चर्चाओ का विषय बना रहा। 

खाली कुर्सीयो को धन्यवाद देते रहे कोलारस एसडीएम
कार्यक्रम के अंत में हास्यपदक दौर तब आया जब लोग कार्यक्रम को बीच में ही छोडक़र चले गए और अंत में धन्यवाद देने के कार्यक्रम कि अध्यक्ष्ता कर रहे कोलारस एसडीएम प्रदीप तोमर ने मंच से खाली पड़ी कुर्सीयो को धन्यवाद देते नजर आए। यह मामला चर्चा का विषय बना रहा।
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics