मुख्यमंत्री ऋण समाधान योजना का जिला स्तरीय सम्मेलन आयोजित

शिवपुरी। मुख्यमंत्री ऋण समाधान योजना का जिला स्तरीय सम्मेलन शुक्रवार को बड़ौदी में आयोजित हुआ। सम्मेलन में पोहरी विधानसभा क्षेत्र के विधायक प्रहलाद भारती, कलेक्टर शिल्पा गुप्ता, अशोक खंडेलवाल, नवाब सिंह, नसीम खान, उपपंजीयक सहकारिता द्विवेदी, जिला केेंद्रीय सहकारी बैंक के प्रबंधक एएस कुशवाह, उपसंचालक कृषि आरएस शाक्यवार, जनप्रतिनिधि एवं किसान आदि उपस्थित थे। 

विधायक प्रहलाद भारती ने मुख्यमंत्री ऋण समाधान योजना के जिला स्तरीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार की किसानों के लिए यह अनूठी योजना है। उन्होंने सहकारिता विभाग के माध्यम से किसानों तक इसकी जानकारी पहुंचाने का भी आग्रह किया। भारती ने कहा कि 2003 के पूर्व मध्यप्रदेश एक बीमारू राज्य के रूप में जाना जाता था। आज इस राज्य ने एक विकसित एवं स्वर्णिम मध्यप्रदेश के रूप में देश में एक अपनी अलग पहचान बनाई है। उन्होंने कहा कि किसानों की मेहनत और राज्य सरकार की किसान हितैषी योजनाओं का ही परिणाम है कि गेहूं के उत्पादन में प्रदेश को लगातार कृषि कमर्ण पुरस्कार प्राप्त हुआ है। प्रदेश में जीरों प्रतिशत ब्याज पर किसानों को ऋण, 24 घंटे बिजली प्रदाय करने के साथ-साथ 40 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई की सुविधा मिली है। उन्होंने कहा कि तत्कालीन प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी की सरकार ने फसल बीमा योजना एवं किसान क्रेडिट जैसी योजनाएं शुरू की थी। जिनका क्रियान्वयन केंद्र की मोदी सरकार द्वारा किया जा रहा है। 

कलेक्टर शिल्पा गुप्ता ने योजना के संबंध में मुख्यमंत्री ऋण समाधान योजना के संबंध में विस्तार से जानकारी देते हुए कहा कि सहकारिता विभाग के मैदानी अमले द्वारा योजनाओं की जानकारी किसानों तक पहुंचाने के साथ-साथ 15 जून तक योजना के तहत राशि जमा करने वाले किसानों की भी अद्यतन जानकारी प्रतिदिन ली जाएगी। उन्होंने कहा कि ऐसे किसान जो ऋणी है। उन्हें मूलधन की 50 प्रतिशत राशि जमा कर योजना का लाभ लेने हेतु प्रेरित करें। गुप्ता ने कहा कि जो सहकारी समिति योजना के क्रियान्वयन में बेहतर कार्य करेंगी। उसे पुरस्कृत किया जाएगा और अच्छा कार्य न करने वाले समितियों के विरुद्ध कार्रवाई भी की जाएगी। 

कार्यक्रम को उपपंजीयक सहकारिता द्विवेदी ने संबोधित करते हुए कहा कि जिले में 47 हजार किसानों पर लगभग 90 करोड़ का ऋण बकाया है, यह किसान 15 जून तक मूलधन की 50 प्रतिशत राशि जमा करने पर उन्हें योजना के तहत ब्याज की राशि माफ कर दी जाएगी। उन्होंने कहा कि डिफाल्टर किसानों द्वारा 15 जून तक योजना के तहत मूलधन की राशि जमा न करने पर उसे किसी अन्य बैंक द्वारा भी ऋण स्वीकृत नहीं करेगा। कार्यक्रम के अंत में जिला केन्द्रीय सहकारी बैंक के महाप्रबंधक एएस कुशवाह ने सभी के प्रति आभार व्यक्त किया। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics