सिंधिया समर्थक MLA से सुपुत्र कर रहे है परीक्षा में नकल: देखे वीडियों

करैरा। वैसे तो जब से करैरा में विधायक का पद शकुतंला खटीक ने संभाला है। तब से लेकर वह लगातार एक के बाद एक सुर्खियों में बनी हुई है। चाहे वह मामला डंपर छुडाने को लेकर कलेक्टर को धमकी देने का हो, चाहे वह करैरा में थाना प्रभारी से अभ्रदता करने का हो। परंतु विधायक दोनों ही मामलो में पूरे प्रदेश की मीडिया में सुर्खिया बटौरती रही। परंतु आज जो मामला सामने आया है। वह चौंकाने वाला है। यहां विधायक के सुपुत्र सरेआम कॉलेज की परीक्षा में चिट से नकल कर रहे है। 

शिवपुरी ग्वालियर संभाग में इन दिनों जीवाजी विश्वविद्यालय फाइनल ईयर के पेपर चल रहे हैं। इसी क्रम में करैरा के एकमात्र शासकीय कॉलेज में परीक्षाओं का आयोजन किया गया है। उक्त परीक्षा में करैरा विधायक शकुंतला खटीक के छोटे पुत्र नितिन खटीक का खुलेआम नकल करते का वीडियो वायरल हुआ है। 

उक्त वीडियो को अभी हाल ही में विधायक प्रतिनिधि के पद से इस्तीफा देने वाले पूर्व पार्षद दिलीप यादव ने अपनी फेसबुक वॉल पर डाल है साथ ही उन्होंने कॉलेज प्रबंधन और करैरा विधायक को सवालों की जद में ला दिया है। उन्होंने लिखा है जैसा कि कल मैंने विधायक पुत्र के कारनामे खुलासे करने की बात कही थी, यह इसकी बानगी भर है, ये है करैरा विधायक शकुंतला खटीक के पुत्र नितिन खटीक कॉलेज में कॉलेज प्रशासन पर दबंगाई दिखा कर नकल करते हुए। यह शकुंतला खटीक वही है जिन पर दंगा भडक़ाने और थाने में आग लगाने के बयान के तहत पिछले वर्ष मामला दर्ज हुआ था। विधायक पुत्र की आये दिन इसी प्रकार की दबंगई देखने को मिलती है और इसे विधायक का राजनैतिक संरक्षण प्राप्त है।

इतना ही नही कुछ परीक्षार्थियों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि विधायक पुत्र नितिन खटीक खुलेआम चीटिंग खुद करता है। व कॉलेज के प्रिंसिपल और परीक्षा कंट्रोलर से मिलकर अपने दोस्तों को भी खुलेआम नकल कराता है। परीक्षा कक्ष में उसे व उसके मित्रों को अलग बैठाया जाता है। जिससे वह खुलेआम चीटिंग कर सके आलम यह है कि विधायक पुत्र होने की वजह से उसे कोई चेक भी नही करता। उक्त वीडियो 24 मई 2018 का है जिसमे विधायक पुत्र बीए 6वें सेमेस्टर की परीक्षा में नकल करता स्पष्ट दिखाई दे रहा है। 

सिंधिया समर्थक विधायक हैं शकुंतला खटीक-

बता दें कि शकुंतला खटीक, ज्योतिरादित्य सिंधिया के गुट से आतीं हैं। जून 2017 मे किसान आंदोलन के दौरान थाने में आग लगादो वाले बयान को लेकर शकुंतला खटीक के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी। आरोप था कि उन्होंने भीड़ को हिंसा के लिए भडक़ाया एवं टीआई के साथ मारपीट की थी। इसका वीडियो भी वायरल हुआ था। प्रकरण दर्ज होने के बाद शकुंतला खटीक, गिरफ्तारी से बचने के लिए गायब हो गईं थी। बाद में ज्योतिरादित्य सिंधिया की मदद से सुप्रीम कोर्ट से राहत मिली थी। उक्त मामले में भी शेष अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी अभी तक नही हो सकी है। वह लोग खुलेआम घूम रहे है।

कालेज प्रबंधन भी है दोषी

उक्त मामले में कही न कही कालेज प्रबंधन भी दोषी है क्योंकि परीक्षा के समय सघन जांच उपरांत ही परीक्षा कक्ष में जाने दिया जाता है लेकिन यहां तो विधायक पुत्र खुलेआम चिट लेकर नकल कर रहे है इसका अनुमान इसी बात से लगाया जा सकता है कि उनका वीडियो बड़े आराम से बनाया गया दूसरी बात परीक्षा कक्ष में मोबाइल भी अंदर कैसे आया यह सब बातें कॉलेज प्रबंधन की कर्याशेली पर सवालिया निशान लगती है।

उक्त वीडियो मेरे द्वारा अपनी फेसबुक के माध्यम से वायरल किया गया है में जानना चाहता हूं कि आम छात्रों के लिए व विधायक पुत्र के लिए नया अलग अलग है क्या गलत काम की में निंदा करता हूं और मांग करता हूं कि विधायक पुत्र पर विद्यालय से रेस्टीकेट करने की कार्रवाई की जाए में इसकी लिखित शिकायत कालेज प्रबंधन को भी करूँगा।
दिलीप सिंह यादव, पूर्व पार्षद, करैरा

आरोपी प्रचार्य ने कहा: कोई शिकायत तो करे

कॉलेज में खुलेआम नकल मामले में प्राचार्य एलएल खरे भी आरोपी हैं। घटना इसी कॉलेज की है। अपने बयान में खरे कहते हैं कि वीडियो वायरल हुआ है उसकी मुझे जानकारी मिली थी। मैने परीक्षा नियंत्रक एलएस बंसल से स्पष्टीकरण मांगा है। उसके बाद कार्रवाई की जाएगी। उक्त वीडियो सहित यदि कोई हमारे पास लिखित रूप के शिकायत करेगा तो हम उसको भी अग्रिम कार्रवाई हेतु यूनिवर्सटी को भेजेंगे।
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics