अच्छी खबर: शिवपुरी पहुंचा सिंध का पानी, हाईडेंट के साथ भरी चीलौद और गांधी पार्क की टंकी

शिवपुरी। सिंध नदी के पानी के लिए तरस रही शिवपुरी की जनता को राहत भरी खबर आई है। तीन महीने पहले शिवपुरी बायपास पर सिंध का पानी पहुंचने के बाद इसके पश्चात लगातार दिक्कतें आ रही थीं और जबकि पानी सतनवाड़ा फिल्टर प्लांट से बायपास के लिए छोड़ा जाता था तब पाइप लाइन मेंं लीकेज सामने आ जाते थे जिससे सिंध का पानी शिवपुरी में पहुंच नहीं पाता था, लेकिन अंतत: मेहनत रंग लाई और आज सुबह 8:30 बजे सिंध का पानी शिवपुरी बायपास पर पाइप लाइन के जरिए पहुंचा। 

इसके साथ ही बायपास से टैंकर भरने का सिलसिला भी शुरू हो गया और पानी करौंदी संपवैल और गांधी पार्क की टंकी तक भी पहुंच गया। बताया जाता है कि पानी का प्रेशर बहुत अच्छा है और समाचार लिखे जाने तक लगभग एक सैंकड़ा टैंकर पानी से भर गए। समाचार मिलने पर यशोधरा राजे सिंधिया भी बायपास पर पहुंची और उन्होंने राहत की सांस लेते हुए दोशियान को निर्देशित किया कि वह आगे का काम जारी रखे जिससे पूरे शहर की जनता को सिंध के पानी का मिल सके। 

दोशियान ने शहर में पानी लगभग तीन माह पहले पहुंचा दिया था लेकिन उसके बाद लाईन में लगातार लीकेज मिल रहे है। एक लीकेज दुरूस्त किया जाता है वहीं चार नए लीकेज पैदा हो जाते है। इससे सिंध जलावर्धन योजना की सफलता पर प्रश्र चिन्ह लग रहा था और यशोधरा राजे सिंधिया ने इसे महसूस कर तकनीकी विशेषज्ञ डॉ. राव और नगरीय प्रशासन के ईएनसी प्रभाकांत कटारे को सिंध जलावर्धन योजना का निरीक्षण करने के लिए शिवपुरी भेजा। 

जिन्होंने पाया कि लीकेज सुधारने के लिए जो मटेरियल इस्तेमाल किया जा रहा है वह घटिया और नकली है जिससे लीकेज समस्या से मुक्ति नहीं मिल रही और एयर वाल्ब तथा पानी के दबाव को सहन करने के लिए एयर वाल्ब लगाना भी जरूरी है। इसके बाद दोशियान हरकत में आई और उसने कैमिकल को दिल्ली से मंगवाया। इसके बाद लीकेज ठीक करने के लिए प्रशासन ने चार दिन का समय दोशियान को दिया तथा अल्टीमेटम दिया कि 14 अप्रैल तक सिंध का पानी शिवपुरी बायपास तक पहुंच जाना चाहिए अन्यथा वह परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहें। 

इसके बाद दोशियान ने युद्ध स्तर पर काम शुरू किया और 14 अप्रैल को जब उन्होंने पानी छोड़ा तो फिर 18वीं बटालियन के पास पाइप लाइन में लीकेज आ गई। इस जगह अनेक बार लीकेज आई। इस कारण दोशियान ने इस बार लीकेज ठीक करने के स्थान पर पाइप बदलना उचित समझा और फिर 14 अप्रैल की रात्रि 11 बजे फिल्टर प्लांट से पानी शिवपुरी बायपास के लिए छोड़ा गया। जो सुबह 8 बजे के बाद शिवपुरी बायपास पहुंचा। राहत की बात यह रही कि इस दौरान कोई लीकेज नहीं आया और पानी का प्रेशर भी काफी अधिक था। 

बायपास पर पानी आने के बाद उसे चीलौद तथा गांधी पार्क की पानी की टंकी भरने के लिए छोड़ा गया और दोनों जगह पानी बिना लीकेज समस्या आए पहुंच गया। दोशियान सूत्र बताते हैं कि पानी का प्रेशर इतना अधिक है कि पांच मिनिट में टैंकर भर रहा है। 

Share on Google Plus

About Yuva Bhaskar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 comments:

-----------

analytics