दिनारा अंचल में पेयजल संकट गहराया, बूंद-बूंद पानी को मोहताज रहवासी

दिनारा। दिनारा अंचल में विकराल पेयजल संकट व्याप्त हो गया है। लगातार कई वर्षों से ठीक तरह से वारिश न होने के कारण अंचल में पानी का वाटर लेवल बहुत नीचे चला गया है जिस कारण कुओं और हैंडपंपों ने जवाब दे दिया है। रही-सही कसर पीएचई विभाग के कर्मचारी पूरी कर देते हैं। शिकायत मिलने के बाद न तो सही टाइम पर हैंडपंप सुधारे जा रहे है जिससे आम जन को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं ग्राम पंचायत सेमरी में लोगों को पानी पिलाने के लिए नलजल योजना शुरू की थी लेकिन वह ठेकेदार की लापरवाही से अभी तक अधूरी पड़ी हुई है। 

दिनारा में सरपंच और आमजनों के सहयोग से राशि इकट्ठा कर और केंद्रीय मंत्री नरेंद्रसिंह तोमर के प्रयास से 1 करोड़ रुपए की नल जल योजना दिनारा के लिए स्वीकृत की गई थी। ठेकेदार के द्वारा गुणवत्ता विहीन कार्य और लापरवाही के चलते आमजन को पानी नसीब नहीं हो पा रहा है। ठेकेदार के द्वरा चंदावरा रोड ओर सिद्वयपुरा मोहल्ले में नल लाइन बिछाई जा चुकी है लेकिन अभी तक इन नलों में पानी नहीं आया है। लोगां को पानी भरने के लिए एक एक किलोमीटर दूर जाना पड़ रहा है। दिनारा के ज्यातर नलकूप जबाब दे चुके हैं। बाजार में जो नल जल योजना का पानी आ रहा है वह भी बहुत गंदा आ रहा है। तालाब में लगातार अतिक्रमण होने के कारण पेयजल संकट और ज्यादा गहरा गया है। इस समस्या की जानकारी सभी को होते हुए भी कोई कार्रवाई नहीं की जाती है और भुगतना आम लोगों को पड़ता है 

ग्राम सेमरी में  पेयजल संकट बहुत बढ़ गया है। दो साल से नल जल योजना का काम बंद पड़ा है। ठेकेदार के द्वारा अधूरा काम बीच में छोड़कर चला जाना इसकी सबसे बड़ी वजह है। गांव वाले पीने के पानी के लिए एक हैंडपंप पर निर्भर है। जलस्तर नीचे हो जाने के कारण अब वह भी जबाब देने लगा है। गांव वालों को एक-एक किलोमीटर दूर से कुओं से पानी लाना पड़ रहा है। सबके ज्यादा दिक्कत तो जानवरों को पीने की पानी की है। गांव वालों की नल जल योजना को लेकर पीड़ा है। अगर ठेकेदार बीच में काम अधूरा न छोड़ता तो आज उनके लिए पानी की इतनी बड़ी दिक्कत न होती।

दिनारा में ठेकेदार के द्वारा सही कार्य नहीं किया जा रहा है। अपनी मर्जी से लाइन डाल रहे हैं। चंदावरा रोड ओर सिद्धपुरा में आराम से पानी आ सकता है बस उनको लाइन ज्वाइंट करना है उसी के लिए आज एक महीने से बहाना बना रहे है। 
संतोष सावला निवासी, चंदावरा रोड दिनारा
-
गांव मे दो साल से नल जल योजना का काम बंद पड़ा है। ठेकेदार बीच में काम छोड़कर चला गया। सारा गांव एक हैंडपंपपर निर्भर है। वरिष्ठ अधिकारियों के साथ-साथ केंद्रीय मंत्री नरेंद्रसिंह तोमर से भी नल योजना पुन: चालू करवाने की मांग की है। गांव के लोगों को एक-एक किलोमीटर दूर से पानी लाना पड़ रहा है।
बेबी एनएस यादव 
जनपद सदस्य सेमरा एवं उपाध्यक्ष जनपद पंचायत करैरा
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics