पोहरी में कार्यकताओं के किनारे के बाद अब हरीवल्लभ शुक्ला ने नरवर में मनाया होली मिलन समारोह

शिवपुरी। बीते रोज पोहरी क्षेत्र के कांग्र्रेसी कार्यकर्ताओं ने पूर्व विधायक हरीवल्लभ शुक्ला को दरकिनार कर होली मिलन समारोह का आयोजन किया गया। इस मामले को लेकर शिवपुरी समाचार ने मामला गंभीरता से प्रकाशित करने के बाद पूर्व विधायक ने मामले की गंभीरता को समझते हुए तत्काल दूसरे कार्यकम का आयोजन पोहरी विधानसभा के नरवर ब्लॉक में आयोजित करा दिया। इस दौरान कार्यक्रम में नरवर के सभी वरिष्ठ कांग्रस नेतागण, कार्यकर्तागण और नागरिक उपस्थित थे। सभी कार्यकर्ताओं ने आतिशबाजी चलाकर तथा मुख्य अतिथि शुक्ला को माल्यार्पण कर एवं गुलाल लगाकर होली की शुभकामनाएं दीं। 

होली मिलन समारोह में मुख्य अतिथि हरिवल्लभ शुक्ला ने अपने उदबोधन में कहा कि हम सबको आपस के सारे गिले शिकवे मिटाकर एक दूसरे के प्रति भाईचारे की भावना को बढ़ावा देना चाहिए। उन्होंने कहा कि आने वाले चुनावों में प्रत्याशी कोई भी हो हमें सिर्फ हाथ का पंजा देखना है और एकजुट होकर कांग्रेस को जिताना है चाहे वह विधानसभा का चुनाव हो या नरवर के नगर पंचायत का चुनाव हो। सभी कांग्रेसी नेताओं ने अपने उदबोधन में कांग्रेस को मजबूत बनाने पर बल देते हुए सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को मुख्यमंत्री बनाने के लिए भरसक मेहनत और प्रयास करने पर बल दिया। 

कार्यक्रम में बैराड़ से आईं रामदयाल एंड कंपनी के गायक कलाकारों ने होली के गीत भी गाए। रामदयाल द्वारा गाए गए इस गीत को की भारत की अर्थव्यवस्था तहस नहस हो गई, जनता कैशलेस हो गई को सभी कार्यकर्ताओं और नेताओं ने बहुत सराहा। कार्यक्रम में मुख्य रूप से नरवर कांग्रेस के ब्लॉक अध्यक्ष सगीर खान, जिला कांग्रेस महामंत्री संदीप माहेश्वरी, पूर्व जिला पंचायत सदस्य जसवंत जाटव, सरवन सिंह गुर्जर, चंदन कुशवाह, वकीला गुर्जर, कमल कुशवाह, कैलाश कुशवाह, कल्लू कुशवाह, प्रमोद भार्गव, सतीश चौधरी, अजय भार्गव, राकेश शर्मा, अशोक पाराशर, जनवेद जाटव, शहजाद खान, डॉ. कैलाश पाठक, नरेंद्र प्रधान, विवेक पाठक, राजू खटीक, किशन रावत, जितेंद्र रावत, देवी सिंह कुशवाह, घनश्याम कुशवाह, बादल सिंह कुशवाह आदि शामिल हुए। कार्यक्रम का संचालन साबिर खान ने किया।
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics