कृष्ण और सुदामा की मित्रता मिसाल के रूप में अपनाई जानी चाहिए: उत्तम स्वामी

शिवपुरी। गांधी पार्क मैदान में श्री सांवरिया सेठ भक्तमंडल द्वारा आयोजित श्रीमद् भागवत कथा के सातवे दिन श्री उत्तम स्वामी जी महाराज के श्रीमुख से कथा सुदामा चरित्र की कथा का मार्मिक चित्रण किया। भागवत कथा के अंतिम दिन भगवान श्रीकृष्ण-सुदामा मिलन का प्रसंग सुनाया गया। 
आज के युग में नौजवानों को कृष्ण और सुदामा की मित्रता मिसाल के रूप में अपनाई जानी चाहिए।

जब कभी हमारा सच्चा मित्र किसी भी मुसीबत में हो तो सबसे पहले उसी की मदद करनी चाहिए। सुदामा चरित्र के साथ भागवत कथा का समापन हुआ। तदोपरांत गांधी पार्क में विशाल भण्डारे का आयोजन किया गया। जिसमें हजारों भक्तगणों ने प्रसाद ग्रहण किया।

इस मौके पर मध्य प्रदेश राज्य पर्यटन विकास निगम के अध्यक्ष तपन भौमिक एवं मछुआ कल्याण बोर्ड के उपाध्यक्ष राज्यमंत्री दर्जा प्राप्त राजू बाथम, मुख्य यजमान डॉ. सुखदेव गौतम, किड्स गार्डन स्कूल के संचालक एसके गौतम, विवेक पालीवाल, भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य सुरेन्द्र शर्मा, पूर्व विधायक ओमप्रकाश खटीक, पूर्व विधायक माखन लाल राठौर, अखिल भारतीय साहित्य परिषद के श्रीधर पड़ारकर जी, संगठन मंत्री देवेन्द्र भार्गव, हुकमचंद गुप्ता, ओमप्रकाश शर्मा गुरू, अशोक खण्डेलवाल, झांसी सदर विधायक रवि शर्मा, डॉ. तुलाराम यादव सुरेन्द्र शर्मा,भूरा महाराज ऐंचवाड़ा, बंटी, पिंकी, देवदीप गौतम, नीरज जैन, मनीष मुढैरी, सूरज अवस्थी, संदीप शर्मा, चन्द्रेश तिवारी, अन्नू, महेन्द्र उपाध्याय, मनीष उपाध्याय, कमलेश शर्मा, संकेत तिवारी सहित हजारों की संख्या में भक्तगण उपस्थित थे।
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics