Tuesday, August 01, 2017

खबर का असर : जिला पंचायत सीईयों के सामने रिश्वत की राशि लौटाने वाले सहायक सचिव की सेवाए समाप्त

शिवपुरी। बीते 14 जुलाई को ग्राम पंचायत पचावली में यशोधरा राजे सिंधिया के आदेश पर आयोजित जन समस्या निवारण शिविर में जिला पंचायत सीईओं के सामने भ्रष्टाचार के आरोप लगने पर तत्काल उक्त सहायक सचिव द्वारा तत्काल रूपए बापिस करने के मामले में आज उक्त आरोपी ग्राम पंचायत के सहायक सचिव को तत्काल प्रभाव से सेवाएं समाप्त करने के आदेश जारी कर दिए है। उक्त मामले को सबसे पहले शिवपुरी समाचार डॉट कॉम नेे रोजगार सहायक ने खुद स्वीकारा, सरेआम रिश्वत लौटाई, फिर भी नहीं हुई कार्यवाही नामक शीर्षक को प्रमुखता से सबसे पहले प्रमुखता से उजागर किया था।

विदित हो कि 14 जुलाई को ग्राम पचावली में ग्रामीणों की समस्याओं के निराकरण हेतु जनसमस्या निवारण शिविर का आयोजन जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती नीतू माथुर की उपस्थिति में किया गया था। जिसमें एक आवेदक परमाल सिंह रघुवंशी ने शिविर में अधिकारियों के समक्ष शिकायत की थी, कि शौचालय निर्माण हेतु 6 हजार रूपए की राशि रोजगार सहायक द्वारा ली गई थी, जिसे अधिकारियों के समक्ष हितग्राही को वापस किया।

रिश्वत के रूप में ली गई 6 हजार रूपए की राशि लेने का अपना आरोप स्वीकार करने के कारण तत्काल प्रभाव से रोजगार सहायक की सेवाए समाप्त कर दी गई। जन समस्या निवारण शिविर में रोजगार सहायक वीरेन्द्र सिंह दांगी की सेवाए जनपद पंचायत कोलारस के मुख्य कार्यपालन अधिकारी वी.डी.गुप्ता ने तत्काल प्रभाव से सेवाए समाप्त कर दी है। 

No comments:

Post a Comment

प्रतिक्रियाएं मूल्यवान होतीं हैं क्योंकि वो समाज का असली चेहरा सामने लातीं हैं। अब एक तरफा मीडियागिरी का माहौल खत्म हुआ। संपादक जो चाहे वो जबरन पाठकों को नहीं पढ़ा सकते। शिवपुरी समाचार आपका अपना मंच है, यहां अभिव्यक्ति की आजादी का पूरा अवसर उपलब्ध है। केवल मूक पाठक मत बनिए, सक्रिय साथी बनिए, ताकि अपन सब मिलकर बना पाएं एक अच्छी और सच्ची शिवपुरी। आपकी एक प्रतिक्रिया मुद्दों को नया मोड़ दे सकती है। इसलिए प्रतिक्रिया जरूर दर्ज करें।