ShivpuriSamachar.COM

Bhopal Samachar

भारत विकास परिषद का नव संवत्सर: ए वतन... वतन मेरे आबाद रहे तू से गूंजा वातावरण | Shivpuri News

शिवपुरीे। हिन्दू नव वर्ष गुड़ीपड़वा (नव संवत्सर) के अवसर पर समाजसेवी संस्था भारत विकास परिषद शाखा शिवपुरी द्वारा भजन संध्या एवं देशभक्ति कार्यक्रम का आयोजन स्थानीय एचडीएफसी बैंक के सामने माधवचौक शिवपुरी पर आयोजित की गई। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि विभाग कार्यवाह आरएसएस राजेश भार्गव एवं प्रांतीय महासचिव युगल गर्ग एवं प्रहलाद भारती पूर्व विधायक पोहरी मुख्य रूप से मौजूद थे। 

इस दौरान राजेश भार्गव ने गुड़ी पड़वा नव संवत्सर का महत्व बताया जबकि युगल गर्ग ने भारत विकास परिषद के बारे में बताया कि यह समाज सेवी संस्था किस तरह समाज की सेवा करती है और देश की अखंडता एकता और संस्कृति को बनाने का काम करती है। कार्यक्रम के बारे में जानकारी देते हुए संस्था अध्यक्ष हेमंत ओझा, सचिव उमेश मित्तल एवं कोषाध्यक्ष समीर सक्सैना द्वारा बताया गया कि भारतीय संस्कृति के तहत सेवा, संस्कार, समर्पण का कार्य करने वाली संस्था भारत विकास परिषद द्वारा प्रतिवर्ष गुड़ीपड़वा के अवसर पर हिन्दू नव वर्ष के रूप में मनाया जाता है इसी क्रम में हिन्दू संस्कृति एवं देशभक्ति के प्रति जागृति लाने के लिए संस्था द्वारा नव संवत्सर की संध्या पर स्थानीय एवं बाहरी कलाकारों ने देशभक्ति गीतों पर रोचक प्रस्तुति  दी और नव वर्ष का समां बांधा। 

इस अवसर पर फिल्म ऊरी के गीत ऐ वतन...वतन, मेरे आबाद रहे तू.... को दर्शकों द्वारा सराहा गया और तालियों की गडगड़़ाहट के साथ गायक कलाकारों का अभिवादन किया गया। कार्यक्रम में संस्था के वरिष्ठ सदस्य विपिन शर्मा, अनिल सांड, वीरेंद्र शर्मा, भानु बंसल, अभय कोचेटा, संतोष गोयल, तरुण अग्रवाल, संदीप वशिष्ठ, श्रीमती प्रेरणा सांड, श्रीमती हेमलता शर्मा, नवीन मलिक, हरि शरण गुप्ता, रितेश जैन, मुकेश मित्तल, अशोक अग्रवाल आदि परिषद के सदस्य मौजूद थे। इसके साथ ही देशभक्ति से ओतप्रोत अन्य गीत भी गायक कलाकारों द्वारा प्रस्तुत किए गए जिस पर लोगों ने उत्साह व उल्लास के साथ नव वर्ष मनाया। कार्यक्रम का आभार भारत विकास परिषद शाखा शिवपुरी के अध्यक्ष हेमंत ओझा ने किया। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

-----------

analytics