सवाल बडा हैं,जबाब के लिए खडा हैं: मात्र 6 माह के लिए नपा क्यो डाल रही हैं डेढ करेाड की नई सडके | Shivpuri News

शिवपुरी। नगर पालिका शिवुपरी से शहर के डेढ करोड रूपये बर्बाद करने वाली खबर आ रही हैं,कि नगर पालिका शिवुपरी मात्र 6 माह के लिए डेढ करोड रूपए जनता के हित में खर्च कर रही है। अब इस जनता के हित पर सबाल खडे हो रहे है कि जब शहर में सिंध जलावर्धन योजना की पाईप लाईन डालनी है,खुदाई होनी है तो फिर नई सडको के लिए डेढ करेाड के टेंडर क्यो लगाए गए। 

जानकारी के अनुसार सिंध जलावर्धन योजना में शहर में ही 297 किलोमीटर की डिसटीब्यूशन लाइन बिछाया जाना है। इन लाईनो को बिछाने के लिए शहर के नई सडको को खोदा जा रहा हैं। इस पर भी लगातार सवाल उठाए जा रहे है। ऐसे में नपा से यह खबर आ गई कि शहर के विभिन्न वार्डो में नई सीसी की सडके डालने की रूपरेखा तैयार कर रहा है। 

अभी शहर की मेन सडको पर ही लाईने बिछी है। कॉलोनियो में न तो सिंध की लाईन पहुंची है और न ही सीवर की। खुदाई तय हैं,सडक कैसी भी हो नई हो पुरानी हो,खुदना तय हैं। तो फिर ऐसे में नई सडको की टीएस कैसे पास हो रही हैं। अभी नपा ने शहर के कॉलोनियो के लिए नई सडको के डेढ करोड के टेंडर कॉल करे है,इस पर सवाल लगातार खडे हो रहे हैं। 

सवाल बडा है कि कौन शिवपुरी विकास के नाम पर शहर से गददारी कर रहा हैं। बताया जा रहा हैं,पार्षदो के संतुष्टिकरण के लिए यह पैसा गढडो में फैका जा रहा हैंं। नपा के प्रतिनिधि जनता इस कारण चुनती है कि वे जनता के हित की रक्षा कर सके,लेकिन यहां तो जनता से टेक्स के रूप में वसूले जाने वाले पैसे जनप्रतिनिधि ही शहर के साथ गद्दारी कर रहे हैं।

जैसा कि विदित है कि अभी नपा के अधिकारी और कर्मचारी ने पार्षदो की मनमानी के खिलाफ हडताल की थी,इस मनमानी में एक मुददा यही था की सडके खुदनी है तो फिर नई सीसी स्वीकृत कराने के लिए दबाव बनाया जा रहा था। 

बताया जा रहा है कि इन नवीन सडको की स्वीकृती की टीएस ग्वालियर से पास होकर आ रही हैं। मोटा कमीशन दिया जा रहा हैं इस कारण टीसी स्वीकृत हो रही है।हालाकि इस मामले की शिकायत सांसद सिंधिया से भी की गई हैं। इन स्वीकृत नई सडको को लेकर लगातार सवाल खडे हो रहे है कि कमीशन के चक्कर में क्यो जनता का पैसा बर्बाद किया जा रहा हैं।

बताया यह भी जा रहा है कि ग्वालियर में बैठे एक अधिकारी जो शिवपुरी नगर पालिका में अपनी सेवाए दे चुके है। प्रमोशन के बाद ग्वालियर में कुर्सी पर जमें हैं,पार्षदो से पुराने संबंध हैं,मोटा कमीशन लेकर टीएस स्वीकृत की जा रही हैं। 

इस मामले में अपने राम का कहना हैं कि यह घोटाला सुनियोजित तरिके से मिलकर पकाया जा रहा हैं,जनप्रतिनिधि और अधिकारी भ्रष्टाचार के लिए जनता से टैक्स के रूप में लिए गए पैसो को फूकने की तैयारी कर रहे हैं। सीएमओ सीपी राय को इस मामले में एक पत्र अपने विभाग को जारी कर देना चाहिए था कि शहर की सडको की सीवर और पानी की लाईने बिछाई जानी है किसी भी स्थिती में नई सडको की स्वीकृति न दी जाए। 

Comments

Popular posts from this blog

Antibiotic resistancerising in Helicobacter strains from Karnataka

जानिए कौन हैं शिवपुरी की नई कलेक्टर अनुग्रह पी | Shivpuri News

शिवपरी में पिछले 100 वर्षो से संचालित है रेडलाईट एरिया