बैंगलोर में हुए अंधे कत्ल के आरोपियों को बैराड पुलिस ने दबौचा | Bairad, Shivpuri News

शिवपुरी। खबर जिले के बैराड थाना क्षेत्र से आ रही है। जहां आज वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शिवपुरी राजेश हिंगणकर को मुखबिर द्वारा सूचना मिली कि बैराड़ तालाब के पास दो हथियार बंद लड़के कोई वारदात को अंजाम देने की नियत से खड़े हैं सूचना पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शिवपुरी द्वारा अति. पुलिस अधीक्षक शिवपुरी गजेंद्र सिंह कंवर को आदेशित किया कि तत्काल कार्यवाही कर सूचना से मुझे अवगत करावे पर से अति. पुलिस अधीक्षक शिवपुरी एवं एस.डी.ओ.पी. पोहरी दिनेश बेस के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी बैराड़ निरीक्षक आलोक सिंह भदौरिया के नेत्रत्व में पुलिस टीम द्वारा मुखबिर के बताए स्थान पर दबिश दी। 

दबिश के दौरान पुलिस को देखकर दोनों आरोपी बगलें झांकने लगे संदेह होने पर पुलिस टीम उसकी ओर बड़ी तो उक्त आरोपी भागने लगे जिन्हे घेराबंदी कर पकड़कर तलाशी ली तो एक आरोपी संजीव उर्फ संजू पुत्र बालकिशन आदिवासी निवासी भवेड़ के पास से एक 315 बोर का देशी कट्टा और 2 जिंदा राउण्ड एवं आरोपी रामवीर आदिवासी निवासी भवेड़ के कब्जे से लोहे की एक धारदार छुरा मिला, जिन्हे विधिवत जप्त कर दोनों आरोपियों को थाने लागकर उनके विरूद्ध आर्म्स एक्ट के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर गिरफ्तार किया गया।

दोनों आरोपियों से हथियार लेकर घूमने के संबंध में सख्ती से पूछताछ की तो उक्त दोनों आरोपियों ने बताया कि वह दोनों एवं अर्जुन उर्फ कल्ला धाकड़ निवासी ग्राम जौराई थाना बैराड़ जिला शिवपुरी का बेंगलुरु में रहकर मूंगफली बेचने का काम करते थे व एक साथ कल्लू के मकान में किराए का कमरा लेकर रहते थे, एक दिन अर्जुन व रामवीर जुए में संजीव से पैसे हार गए तब अर्जुन ने हारे हुए रुपए संजीव से मांगे नहीं देने पर अर्जुन ने संजीव को जान से मारने की धमकी दे डाली, इसी बात पर संजीव एवं रामवीर आदिवासी ने मिलकर अर्जुन उर्फ कल्ला धाकड़ निवासी ग्राम जोराई का गला दबाकर हत्या कर दी। 

उक्त लाश को एक नीले ड्रम में रखकर छिपाने के लिए रात में रूम के पीछे झाड़ियों के पास बाउंड्री के अंदर डालकर उसके ऊपर काला चादर ,कंबल और मोटा सा गद्दा डाल आए थे,मरते समय अर्जुन नीले रंग की पैंट एवं सफेद शर्ट पहने था। तीन-चार दिन बाद लाश में से बदबू आने लगी थी तो किसी ने पुलिस को खबर कर दी पुलिस आ कर लाश को ले गई थी और दोनों आरोपी  रामवीर, संजीव 10-15 दिन बाद अपने गांव भवेड़ थाना सुभाषपुरा जिला शिवपुरी आ गए थे। अर्जुन का मोबाइल संजीव अपने साथ ले आया था।

उक्त दोनों आरोपी मृतक अर्जुन उर्फ कल्ला के गांव जोराई में उसके परिवार वालों से मिलने व उनके द्वारा क्या कार्रवाई की जा रही है इसकी जानकारी लेने जा रहे थे तथा अपनी सुरक्षा के लिए दोनों आरोपी अवैध हथियार लेकर आये थे।

उक्त घटना के संबंध में ग्राम जोराई से मृतक अर्जुन उर्फ कल्ला के पिता रोशन धाकड़ को बुलाकर जानकारी ली गई तो रोशन धाकड़ ने बताया कि उसका लड़का कल्ला बेलंदूर में काम धंधा करने करीब 5 महीने पहले गया था जिससे दिसंबर के महीने से कोई बात नहीं होने पर मैं उससे मिलने बेलंदूर गया था वहां उसके साथ रहने वाले संजीव और  रामवीर आदिवासी से पूछा कि मेरा लड़का कहां है तो दोनों ने बताया कि वह तो बिना बताए कहीं चला गया तब मृतक के पिता ने अपने लड़के अर्जुन उर्फ कल्ला के गुम होने संबंधी रिपोर्ट थाना मारथ्थली बैंगलूरू में की थी जिसपर धारा 363 भादवि है। पुलिस थाना प्रभारी बैराड़ द्वारा थाना मारथ्थली बैंगलूरू को घटना के संबंध में सूचना दे दी गई है।

उक्त कार्यवाही में थाना प्रभारी बैराड़ निरी. आलोक सिंह भदौरिया, उनि. सुदर्शन कलोसिया, सउनि हरिओम शर्मा, प्रआर. संजीव कुमार,प्रआर. राजेन्द्र यादव एवं आर. सुमित सेंगर की सराहनीय भूमिका रही।
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

-----------

analytics