Ad Code

शिवपुरी पुलिस के खिलाफ धरने पर बैठे BJP प्रत्याशी प्रीतम लोधी और उनके सम​र्थक | SHIVPURI NEWS

पिछोर। शिवपुरी जिले की पिछोर विधानसभा में जब से विधायक बनकर केपी सिंह विधानसभा पहुंचे है तभी से पिछोर में कांग्रेस की सरकार द्वारा जनता की आवाज को दबाने का प्रत्यास किया जा रहा है जो कि कतई बर्दाश्त नहीं होगा, विधानसभा चुनाव संपन्न होने के बाद कांग्रेस की सरकार बनते ही सत्ता पक्ष के विधायक केपी सिंह द्वारा भाजपा पिछोर क्षेत्र के वरिष्ठ नेताओं एवं कार्यकर्ताओं पर झूठे मुकदमे दर्ज कराकर उन्हें प्रताडि़त किया जा रहा है। 

इस मामले में जब तक कोई उचित कदम कांग्रेस सरकार अथवा जिला प्रशासन द्वारा नहीं उठाया जाता तब तक यह धरना प्रदर्शन अनिश्चितकालीन हड़ताल जारी रहेगी। यह बात कही पिछोर विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस विधायक केपी सिंह के खिलाफ दो बार चुनाव लड़कर हार का सामना करने वाले भाजपा नेता प्रीतम लोधी ने जो कलेक्ट्रेट प्रशासनिक अधिकारियों को राज्यपाल के नाम एक ज्ञापन सौंपकर जब कोई उचित आश्वासन नहीं मिला तो उन्होंने पिछोर में ही एसडीओपी कार्यालय के सामने सैकड़ों लोगों के साथ धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया और जमकर प्रदेश सरकार को कोसा। उन्होंने ज्ञापन में पूर्व ही कहा था कि ज्ञापन सौंपने के दो दिन के भीतर मामलों की निष्पक्ष जांच नहीं हुई तो वह आमरण अनशन करेंगे और इसी क्रम में वह निष्पक्ष जांच को लेकर धरने पर बैठ गए। इस धरने में पिछोर के उनके सैकड़ों कार्यतकर्ता व समर्थक धरने में शामिल है

झूठे मामले दर्ज कराने को लेकर विधायक केपी सिंह पर लगाए थे आरोप 

भाजपा नेता प्रीतम सिंह लोधी ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर जो ज्ञापन सौंपा था उसमें विधानसभा चुनाव संपन्न होने के बाद कांग्रेस की सरकार बनते ही सत्ता पक्ष के विधायक केपी सिंह द्वारा भाजपा पिछोर क्षेत्र के वरिष्ठ नेताओं एवं कार्यकर्ताओं पर झूठे मुकदमे दर्ज कराकर उन्हें प्रताडि़त किए जाने का आरोप लगाया था और अपनी शिकायत को लेकर ज्ञापन भी प्रशासनिक अधिकारियों को सौंपा जिसमें उन्होंने बताया कि स्वयं उन पर एवं उनके कार्यकर्ता भानु परिहार, सत्यप्रकाश वंशकार पर दर्ज किया गया मामला झूठा है।

इन समर्थकों पर झूठे मामले दर्ज बता रहे है प्रीतम लोधी

पिछोर विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी रहे प्रीतम लोधी ने धरने में बताया कि उनके समर्थकों पर भी झूठे मामले दर्ज है जिसमें ग्राम सेमरी में रामकिशन लोधी, सोनू लोधी, इंद्रपाल लोधी, रामकिशन लोधी पर भी एससीएसटी एक्ट का झूठा मामला दर्ज कराया गया है। नांद गांव में पुष्पेंद्र लोधी, शोभाराम लोधी, विनोद लोधी, नवीन लोधी पर चोरी के मुकदमे दर्ज करा दिए गए हैं। 

बामौरकलां में बालेंद्र यादव, मनमोहन, प्रकाश शर्मा पर शासकीय संपत्ति खुर्दबुर्द करने का केस दर्ज है। वहीं हरिराम यादव, जगदीश यादव, इंद्रपाल यादव पर अवैध शराव बेचने का मामला पुलिस द्वारा दर्ज किया गया है। सिलपुरा में उनके कार्यकर्ता रहीश सिंह यादव पर चोरी व लूटपाट का केस दर्ज है। कफार गांव के मदन पुत्र विश्वनाथ लोधी, सुखवीर लोधी जो अतिथि शिक्षक थे उन्हें अकारण हटा दिया गया है। पुलिस और प्रशासन की कार्यवाही सत्ता पक्ष के दबाव में की गई है जो झूठी और कल्पना से परे है।