मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना में 51000 रूपए से नीरज के हाथ हुए पीले | Shivpuri News - Shivpuri Samachar | No 1 News Site for Shivpuri News in Hindi (शिवपुरी समाचार)

Post Top Ad

Your Ad Spot

1/19/2019

मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना में 51000 रूपए से नीरज के हाथ हुए पीले | Shivpuri News

शिवपुरी। मुख्यमंत्री कन्या विवाह एवं निकाह योजना के तहत किए जाने वाले सामूहिक विवाह सम्मेलनों में मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा प्रत्येक जोड़े को 25 हजार के स्थान पर 51 हजार की राशि देने का निर्णय का अमल जिले में भी शुरू हो गया है। जिसकी चारों तरफ प्रशंसा हो रही है। राशि बढ़ाए जाने पर वर-बधू के साथ माता-पिता ने भी मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ जी के प्रति धन्यवाद व्यक्त करते हुए खुशी जाहिर की है। 

शिवपुरी जिले की जनपद पंचायत नरवर की ग्राम तालभेव निवासी रामबाबू बरार की पुत्री नीरज (कक्षा 10वीं उत्तीर्ण) का विवाह ग्राम छपरा डबरा निवासी श्री प्रेमनारायण के पुत्र रामू बरार (बी.ए बीएड) के साथ तय हुआ था। रामबाबू की आर्थिक स्थिति ज्यादा अच्छी नहीं थी। परिवार में चार बहने एवं एक भाई सहित 07 सदस्यों का परिवार होने के कारण पिता को परिवार के भरण पोषण करने में काफी परेशानी के साथ उन्हें कु.नीरज की शादी की भी चिंता थी। 

श्री रामबाबू ने एक दिन जनपद पंचायत कार्यालय नरवर पहुंचकर मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री ए.पी.प्रजापति से संपर्क कर बताया कि वे अपनी पुत्री की शादी सामूहिक विवाह सम्मेलन में करना चाहते है। इसके लिए शासन से आर्थिक सहायता मिलने पर वह अपनी पुत्री की शादी बेहतर ढंग से कर सकेंगे। श्री प्रजापति ने उन्हें बताया कि मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ जी ने हाल ही में सामूहिक विवाह सम्मेलन में विवाह हेतु 25 हजार के स्थान पर 51 हजार की सहायता देने का निर्णय लिया है।

 जिसमें से 48 हजार रूपए की राशि कन्या के बैंक खाते में और 3 हजार रूपए की राशि आयोजनकर्ता निकाय को दी जाएगी। 17 जनवरी को नरवर में योजना के तहत आयोजित सामूहिक विवाह सम्मेलन में कु.नीरज का विवाह रामू पुत्र प्रेमनारायण के साथ धूमधाम से सम्पन्न हुआ। 

जहां दोनों पक्षों के लोग बड़े खुश थे। वहीं नीरज एवं उसके पिता श्री रामबाबू ने मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ को सामूहिक विवाह सम्मेलन हेतु बढ़ाई गई 51 हजार रूपए की राशि के लिए धन्यवाद व्यक्त करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा राशि बढ़ाए जाने से हम जैसे गरीब परिवारों के लिए कर्ज के लिए साहूकारों के पास नहीं जाना पड़ा। 

No comments:

Post Top Ad

Your Ad Spot