ShivpuriSamachar.COM

Bhopal Samachar

चपरासी के घर से 14.50 लाख की चोरी, पुलिस ने घर से बरामद किए पैसे, चपरासी बेहोश | Shivpuri News

शिवपरी। शिवपुरी के फिजीकल थाने में एक अजीब चोरी का मामला प्रकाश में आया हैं, शिवपुरी तहसील में चपरासी के घर चोरी होने का मामला प्रकाश में आया, मामले की सूचना पुलिस को स्वयं चपरासी भानूराम केवट ने दी। इस सूचना पर पुलिस घर पहुंची तो घर की तालाशी में ढाई लाख और सोने का समान मिल गया। इसके बाद भानुराम केवट बेहोश हो गया। और अस्पताल भी भर्ती हो गया। ओर वहां से फरार हो गया।

बताया जा रहा है कि न्यू दर्पण कॉलोनी में रहने वाले चपरासी भानुराम केवट के घर 14.50 हजार नगदी की चोरी की सूचना पर पुलिस उसके घर फिजीकल थाना प्रभारी, देहात थाना प्रभारी, SDOP और FSL प्रभारी जांच के लिए गए। पुलिस ने जब घर जाकर उसके घर इस चोरी की घटना की बारिकी की से जांच तो उसके ही अलमारी में रखे कपडो में ढाई लाख रूपए मिल गए। 

चपरासी ने जिन सोने की बाली भी चोरी होना बताई, वही भी ढूंढने पर मिल गई। पुलिस ने चपरासी से  पूछताछ की तो अचानक उसकी तबियत बिगड़ने लगी। अस्पताल पहुंचकर पर्चा बनवा लिया, लेकिन इलाज के लिए भर्ती नहीं हुआ। अचानक भानुराम के लापता होने पर पुलिस तलाश में जुट गई। लेकिन देर शाम भानुराम फिजिकल थाने पहुंच गया। 

पिछोर में बेची थी 60 लाख रूपए की जमीन
पिछोर में 60 लाख रुपए की जमीन बेची थी जिसमें से भानुराम व उसके भाई के हिस्से में 15 लाख रुपए आए थे। भानुराम का कहना है कि 50 हजार रुपए खर्च हो जाने के बाद घर में 14.50 लाख रुपए रखे थे। 

पूरा मामला संदिग्ध, पुलिस हर ऐंगिल पर करेंगी जांच 
पुलिस ने ढाई लाख रुपए व बाले बरामद कर लिए तो भानुराम केवट से पूछताछ शुरू कर दी। यह देख भानुराम उल्टियां और सीने में दर्द जैसी हरकत करने लगा। यह देख पुलिस ने अस्पताल जाकर इलाज कराने को कहा। जिला अस्पताल पहुंचकर भर्ती होने के लिए पर्चा बनवा लिया लेकिन मेडिकल वार्ड में भर्ती होने से पहले ही लापता हो गया। 

इसके बाद पुलिस भानुराम की तलाश में जुट गई। फिजीकल थाना प्रभारी  ने बताया कि देर शाम भानुराम थाने आ गया और बातचीत के बाद एफआईआर दर्ज कर रहे हैं। घर में मिले ढाई लाख के बाद शेष रुपए नहीं मिले हैं। इसी को लेकर आगे छानबीन जारी रखेंगे। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

-----------

analytics