Ad Code

राजनीति: जिले में एक भी ब्राह्मण को टिकिट नही, पोहरी नही रहेगी ब्राह्मण सून | Shivpuri News

शिवपुरी। जिले की राजनीति में शायद ऐसा पहली बार हुआ हो भाजपा और कांग्रेस पार्टी ने ब्राह्मण प्रत्याशी को टिकिट नही दिया हैं इससे एसटी एससी एक्ट से पीड़ित ब्राह्मण अब दोनों पार्टी का बॉकआॅवर कर देने की खबर आ रही है। इसी बीच यह खबर भी बल पकड रही है कि पोहरी ब्राह्मण सून नही रहेगी।

जेसा कि विदित है कि पोहरी में भाजपा से प्रहलाद भारती का टिकट फायनल होते ही अनुमान लगाया जा रहा था कि कांग्रेस से पूर्व विधायक हरिबल्लभ शुक्ला को टिकिट मिल सकता है, लेकिन पूरे समीकरणों को उलट कांग्रेस ने धाकड प्रत्याशी सुरेश राठखेडा को टिकट थमा दिया। पोहरी से एक टिकिट की आस ब्राह्मण समाज को थी, लेकिन वहां भी निराशा हाथ लगी, इस कारण शिवपुरी ब्राह्मण समाज के लोगो में रोष हैं।

वहीं दूसरी खबर यह भी आ रही है कि पोहरी किसी प्रकार से ब्राह्मण सून नही रहेगी, कल शाम को खबर आई थी कि भाजपा से टिकट मांग कर रहे नरेन्द्र विरथरे निर्दलीय उम्मीदवार हो सकते है, इस खबर मे कितना बल है यह समय के गर्त में है, लेकिन पोहरी से टिकिट की मांग कर रहे एक ब्राह्मण प्रत्याशी भी एक टिकट की जुगाड में जिले से 500 किमी दूर अपनी लॉंबिग कर रहे है।

अगर इनको टिकिट मिलता है और यह चुनाव लडते है तो यह भी पार्टी विशेष की वोटों के साथ ब्राह्मण वोटों के गणित पर 30 हजारी हो सकते हैं। अगर उक्त पंडित जी मैदान में आते है तो  पोहरी विधानसभा में मुकाबला देखने योग्य हो सकता है,क्योकि यहां से 4 बल शाली प्रत्याशी मैदान में हो सकते हैं। 

करैरा में बगावत की बयार, खटीक हो सकते हैं साइकिल सवार
करैरा में बगावत की बयार वह रही हैं। पार्टी द्वारा सभी सर्वो को धराशाई करते हुए विरासत टिकिट थमा दिया है, इससे सभी टिकट की दावेदारी कर रहे प्रत्याशी और राजनीतिक विशेषज्ञों के गणित  फैल हो गए लेकिन अब खबर पक्की वाली आ रही है कि खटीक अब साईकिल की सवारी कर सकते है इसमे कोई बड़ी बात नही होगी, क्योंकि यह सीट यूपी की सीमा से लगी है और करैरा सीट पर समाज बाद का प्रभाव हैं। 

कोलारस में पूरे समीकरण ध्वस्त, यादव से यादव भिड़ सकता हैं 
कोलारस में होल्ड का गणित चल रहा है, सबसे माथापच्ची वाली सीट कोलारस हो गई है। राजनीति के बडे धुरंधर रण से उतरने की तैयारी कर रहे हैं। इन धुरधंरो के कारण टिकट बंटाकन का कचूमर निकल गया। पहले भाजपा ने होल्ड की अब कांग्रेस ने होल्ड कर दी, ऐसा क्यों किया ठोस कारण किसी के पास नही हैं, लेकिन कोलारस के लिए यह खबर पक्की है कि भाजपा प्रत्याशी आयतित कर सकती हैं, यहां पोहरी का फार्मूला लगाया जा सकता है, यहां यादव यादव में भिंडत हो जाए तो हैरानी नही हैं, इस कारण ही कांग्रेस की सीट होल्ड मोड पर चली गई है,कि भाजपा तोड फोड नही कर दे।