Ad Code

Responsive Advertisement

भावांतर: किसान ने बेचा चना, 74 हजार रूपए सोसाइटी आॅपरेटर की भाभी के खाते में पहुंचे | Pohri News

पोहरी। बैसे तो भावांतर योजना को लेकर कांग्रेस जमकर वबाल मचा रही है। शिवपुरी जिले के पोहरी में ही भावांतर के चलते चार कर्मचारीयों पर कार्यवाही हो चुकी है। उसके बाबजूद भी यह कर्मचारी सुधरने का नाम ही नहीं ले रहे है। इसका जीता जागता मामला आज सामने आया है। जहां एक महिला ने अपना चना तो बैच दिया। परंतु उसका पैसा उसको नहीं मिला। किसान लगातार चक्कर लगाता रहा। परंतु रूपए उसके खाते में नहीं आ सके। जब उसने जाकर चैक कराया तो वह भी भौचक्का रह गया। उसके खाते में आने बाली राशि सोसाईटी आॅपरेटर की भाभी के खाते में पहुंच गई है। 

जानकारी के अनुसार पोहरी तहसील के छोटा लेंगड़ा गांव के किसान ने जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक पोहरी के शाखा प्रबंधक को आवेदन दिया है। किसान ने विपणन संस्था पोहरी के उपार्जन केन्द्र पर 15 मई 2018 को 34 बाेरी चना आकर बेचना था। किसान ने अपने पंजीयन पर चना बेच दिया। लेकिन खाते में राशि नहीं आई। जानकारी निकलवाने पर पता चला कि 74 हजार रुपए सोसाइटी पर काम करने वाले कंप्यूटर ऑपरेटर के खाते में पहुंच गए हैं। 

किसान नंदा कुशवाह निवासी ग्राम छोटा लेंगड़ा का कहना है कि अपने पंजीयन पर उसने 17 क्विंटल चना बेचा था। जिसका 74 हजार 800 का भुगतान होना था। 10 रुपए कमीशन कटने के बाद 74 हजार 790 रुपए का भुगतान मध्यांचल ग्रामीण बैंक के खाता क्रमांक 172001634352 में हो गया। ऑनलाइन पंजीयन में नाम उसका दर्ज है लेकिन खाता किसी महिला का दर्ज कर दिया गया। 

जबकि किसान का खाता क्रमांक 80017468689 है। किसान ने दूसरे खाते में जमा राशि वापस लेकर अपने खाते में जमा कराने का आग्रह किया है। वहीं शिकायत के बाद जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक पोहरी शाखा प्रबंधक ने मामले में पुलिस प्राथमिकी दर्ज कराने के लिए आवेदन पर मार्क किया है। 

ऑपरेटर की रिश्तेदार के खाते में पैसा गया 
सेवा सहकारी संस्था के कंप्यूटर ऑपरेटर की रिश्तेदार का खाता है जिसमें किसान का पैसा गया है। मामले में पुलिस प्राथमिकी की कार्रवाई कर आएंगे। मनीष सिंह, प्रबंधक, विपणन सहकारी