Ad Code

Responsive Advertisement

7 मौतों के बाद अब चेता प्रशासन, शहर में फोंकिग मशीन से किया छिडकाव, डेंगू का लार्वा मिलने पर थमाए नोटिस

शिवपुरी। शहर के लिए महामारी बन चुके डेंगू द्धारा एक के बाद एक 7 मौतों के बाद अब प्रशासन चौकन्ना हुआ है। आज नगर पालिका द्वारा नगर में मलेरिया एवं डेंगू के मच्छरों के विनिष्टीकरण हेतु फोकिंग का कार्य किया जा रहा है। आज वार्ड क्रमांक 04, 05, 06 एवं वार्ड क्रमांक 07, 08, 09 में फोकिंग की गई। इसके साथ ही नगर के विभिन्न क्षेत्रों में साफ-सफाई कर दवाई का छिड़काव भी किया गया। 

मुख्य नगर पालिका अधिकारी सी.बी.राय ने बताया कि शहर में कस्टम गेंट से अम्बेडकर पार्क तक, गुरूद्वारा चैक से राजेश्वरी रोड एवं एस.पी. आफिस होते हुये रेल्वे स्टेशन तक, गुरूद्वारा चैक से सुभाषचैक तक, महल सराय से मुक्तिधाम रोड तक सांइस काॅलेज से करोंदी सम्पवेल तक, पुराने बस स्टेण्ड से फिजीकल चैराहे होते हुये दो बत्ती तक तथा मजेजी हाउस के पास नाला, कमलांगज नाला एवं ठण्डी सडक स्थित नाले की सफाई कराई जाकर दवाई का छिडकाव किया गया। 

उन्होंने बताया कि डेंगू एवं मलेरिया रोकथाम हेतु लार्वा विनिष्टीकरण की कार्यवाही के दौरान वार्ड क्र 05 में मंगल बाथम, रतीराम जाटव, धर्मेन्द्र बाथम, सलीम खांन, संजय लोहट एवं वार्ड क्र 07 में सर्किट हाउस रोड निवासी बालकिशन शिवहरे के घरों में डेंगू का लार्वा पाए जाने पर 500 रूपये का जुर्माना का नोटिस दिए गए। जारी कार्यक्रम के अनुसार 27 अक्टूबर को वार्ड क्रमांक 16, 17, 18 में प्रातः 05 से 08 बजे के बीच, जबकि वार्ड क्रमांक 19, 20, 21 में शाम 05 से 08 बजे के बीच फोकिंग की जाएगी।

डेंगू के नियंत्रण हेतु छात्र-छात्राओं एवं स्टाफ को दिया प्रशिक्षण

शिवपुरी। जिले में डेंगू नियंत्रण की दिशा में स्वास्थ्य विभाग व एम्बेड परियोजना के संयुक्त तत्वाधान में शहर के स्कूलों में छात्र छात्राओं व विद्यालय स्टाफ के साथ प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन सेंट वेनेडिक्ट व शा.कन्या उ.मा.विद्यालय कोर्ट रोड में किया गया।

प्रशिक्षण में जिला स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.एन.एस.चैहान, जिला टीकाकरण अधिकारी डाॅ. संजय ऋषिश्वर व जिला समन्वयक एम्बेड परियोजना विजय मिश्रा द्वारा बच्चों को डेंगू व मलेरिया के लक्षण व बचाव की तकनीकियों को विस्तार से समझाया गया। साथ ही साथ बच्चों को मच्छर का लार्वा दिखाकर उसे नष्ट करने की विधियों जैसे- तेल परतीकरण, टेमेफोस व गम्बूसिया मछली के प्रयोग के विषय में विस्तार से बताया गया। प्रशिक्षण के साथ साथ विद्यालयों में एम्बेड टीम द्वारा लार्वा की जाँच व उसे मारने की कार्यवाही भी की गयी।

कार्यक्रम के अंत में छात्र छात्राओं को अपने घर व आसपास के 10 घरों में लार्वा विनिष्टीकरण की कार्यवाही करने व लोगों को जागरूक करने की शपथ दिलाई गयी जिसके फलस्वरूप सभी ने सहर्ष ये जिम्मेदारी निभाने का आश्वासन भी दिया।