जानलेवा डेंगू: शिवपुरी में जांच नहीं, ग्वालियर में एक ही दिन में शिवपुरी के 6 डेंगू पोजीटिव, अस्पताल हाउसफुल | Shivpuri News

शिवपुरी। शिवपुरी जिले पर इन दिनों डेंगू कहर बनकर बरस रहा है। शिवपुरी का स्वाथ्य विभाग डेंगू के पेसेंट न मिलने का दाबा कर रहा है। वही जिले में एक के बाद एक मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। जिला चिकित्सालय की फैल स्वास्थ्य व्यवस्थाओं के चलते अब शिवपुरी में बुखार आने पर लोग सीधे ग्वालियर लेकर भाग रहे है। ग्वालियर में भी प्रायवेट हॉस्पीटलों की हालात शिवपुरी के मरीजों से यह हो गई है कि प्रायवेट अस्पतालों में भी अब बेड खाली नहीं है। जिला प्रशासन दाबा कर रहा है कि अब डेंगू के मरीजों के आंकडों में कमी आई है। इसी बीच खबर ग्वालियर से आई है कि ग्वालियर के विभिन्न प्रायवेट अस्पतालों में कल ही 6 लोगों की डेंगू पोजिटिव रिपोर्ट आई है। हांलाकि उक्त जानकारी शिवपुरी समाचार डॉट कॉम को मिल पाई है यह आंकडे उसके हिसाब से है। जिसमें सैकडो मरीजों की तो जानकारी ही नहीं मिल पाई है। 

जो आंकडे समाने आए है उसमें ग्वालियर के बिरला अस्पताल में भर्ती कपिल शर्मा और सुक्रत शर्मा निवासी हनुमान कॉलोनी शिवपुरी को बीते 6 दिन से बुखार आ रहा था। जिसपर परिजन इसका शिवपुरी में इलाज कराते रहे। जब आराम नहीं मिला तो उन्हें ग्वालियर लेकर गए। वहां जांच कराई तो इनमें डेंगू की पुष्टि पाई गई। इसके साथ ही तुलसी नगर में निवासरत विजय शर्मा की भतीजी निशि शर्मा को बीते 4 दिन से बुखार आ रहा था। जिसपर ग्वालियर के प्रायवेट अस्पताल में जांच कराई तो वह भी डेंगू पोजीटिव निकली। जिसका इलाज ग्वालियर में जारी है। 

इसके साथ ही शिवपुरी के राहूल शर्मा कूढा जागीर ने बताया है कि वह भी डेंगू से पीडित है और वह भी ग्वालियर के निजी चिकित्सालय में भर्ती है। जहां उसकी रिपोर्ट भी पोजीटिव आई है। इसके साथ ही राहुल ने दाबा किया है कि वह जिस प्रायवेट अस्पताल में भर्ती है। उस अस्पताल में शिवपुरी के ही लगभग 30 लोग और भर्ती है जो डेंगू से लड रहे है। अभी तक यही जानकारी प्राप्त् हो पाई है। जो कि प्रशासन और स्वास्थय विभाग के आंकडों की पोल खोलने के लिए काफी है। 

यहां बता दे कि अभी तक शिवपुरी जिले में डेंगू से 7 मौतों के बाद भी प्रशासन सचेत नहीं हुआ है। इस मामले को लेकर शिवपुरी में हुई अनुष्का की मौत के बाद अभिभाषक संघ ने इस जानलेवा मुददे को लेकर कोर्ट में भी पीआईएल दाखिल कर दी है। परंतु उसके बाबजूद भी जिले में जिम्मेदार स्वाथ्य विभाग महज खोखले दाबों के अलाबा कुछ भी नहीं कर रहा है। इनकी जिम्मेदारी ही हद तो तब हो गई जब इस जानलेवा महामारी के बाद जांच की किट तक जिला चिकित्सालय में नहीं है। दाबा है कि किट खत्म हो गई जो जल्द ही शिवपुरी आ जाएगी। परंतु स्वास्थ्य विभाग के इस लापरवाह रैवये को लेकर अब क्या उम्मीद करें। 

Comments

Popular posts from this blog

Antibiotic resistancerising in Helicobacter strains from Karnataka

जानिए कौन हैं शिवपुरी की नई कलेक्टर अनुग्रह पी | Shivpuri News

शिवपरी में पिछले 100 वर्षो से संचालित है रेडलाईट एरिया