Ad Code

Responsive Advertisement

पोहरी विधानसभा:भाजपा में बिगडे समीकरण,सोनू विरथरे आए आगे | Pohri News

शिवपुरी। खबर जिले के पोहरी विधानसभा की आ रही है। जहां आज फिर से भाजपा में टिकिट के समीकरण बिगड गए है। अभी तक पोहरी विधानसभा में प्रहलाद भारती की दावेदारी प्रमुखता से सामने आ रही थी। परंतु रायशुमारी में प्रहलाद भारती पीछे खिसक गए। इस रायशुमारी के बाद पोहरी विधानसभा से नरेन्द्र विरथरे का नाम एकदम उछाल लेकर आगे आ गया। हांलाकि पोहरी विधानसभा से डॉक्टर सलौनी धाकड भी टिकिट की दाबेदारी दिखा रही है। परंतु आज खबर आई है कि पोहरी विधानसभा में टिकिट के समीकरण आज फिर बदल गए है। इस बार जो समीकरण सामने आए है उसके पोहरी विधानसभा से युवा नेता सोनू बिरथरे का नाम एक दम उछलकर सामने आया है। 

विश्वनीय सूत्रों के हिसाब से जो जानकारी निकलकर सामने आई है। उसके अनुसार पोहरी विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न समाजों मौज्जिद लोग बडी संख्या में सोनू बिरथरे को टिकिट देने के लिए भोपाल और दिल्ली तक पहुंच रहे है। और इस युवा चेहरे को टिकिट देने की बकालात कर रहे है। खास बात यह है कि इन विश्वसनीय लोगों में ब्राहम्ण समाज के साथ साथ धाकड किरार समाज के भी कई ऐसे विश्वसनीय लोग शामिल रहे जो कुछ समय पूर्व तक प्रहलाद भारती के करीबी माने जाते थे। 

इतना ही नहीं ब्राहमण समाज भी भाजपा नेतत्व  से इस युवा चेहरे को टिकिट देने की बकालात इस तर्क के साथ कर रहा है कि यह न सिर्फ युवा चेहरा है। बल्कि इसमें सभी को एक जुट रखने की क्षमता है। अचानक हजारों की संख्या में सोनू बिरथरे को टिकिट की बकालात के लिए पहुंच रहे पोहरी विधानसभा के लोगों के कारण अब भाजपा नेत्त्व भी इस नाम को गंभीरता से ले रहा है। कहा तो यह तक जा रहा है कि अमित शाह द्धारा कराए गए सर्वे में जहां पहले सोनू बिरथरे दूसरे नंबर पर थे लेकिन अब अचानक इन्होने उछाल मारते हुए पहला पायदान पा लिया है। 

बैसे भी पोहरी विधानसभा ग्वालियर संसदीय क्षेत्र में आती है। जहां से बर्तमान में चुनाव अभियान समिति के संयोजक एवं केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर सांसद है। सूत्रों का कहना है कि श्री तोमर प्रहलाद भारती को किसी भी सूरत में पोहरी विधानसभा से टिकिट देने के मूड में नहीं है। क्योकि लोकसभा चुनाब में प्रहलाद भारती पर नरेन्द्र सिंह तोमर की खिलाफत करने की बात आज भी चर्चाओं में है। वही पूर्व विधायक नरेन्द्र विरथरे की क्षेत्र से 14 वर्षो की दूरी के बाद अचानक उनका इस विधानसभा क्षेत्र से टिकिट मांगने किसी के गले नहीं उतर रहा है। बैसे भी श्री बिरथरे का पूर्व का चुनावी गणित उनके जनाधार को बताने के लिए काफी है। ऐसे में ब्राहमण समाज के यदि युवा चेहरे सोनू विरथरे पर पार्टी दाब लगाती है तो पार्टी के लिए यह लाभ का सौदा हो सकता है।