Ad Code

डेंगू से निपट नही पा रहे हैं सरकार के आधा दर्जन विभाग, एक ओर मौत

शिवपुरी। जिले में डेंगू से लडने के जिला प्रशासन ने आधा दर्जन विभागो की डूयटी लगाई हैं,फिर भी डेंगू का कहर थम नही रहा हैं। खबर बैराड से आ रहीे हैं यहां जानलेवा डेंगू बुखार ने फिर एक युवक की जान ले ली हैं। बैराड़ नगर में डेंगू बुखार ने एक मजदूर की जान ले ली। नगर परिषद के वार्ड क्रमांक 7 ठाकुर बाबा मंदिर के पास रहने वाले शिवराज (25) पुत्र सिरनाम परिहार को तेज बुखार होने पर तीन दिन पहले एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था, जहां उसकी स्थिति बिगड़ने पर परिजन उसे ग्वालियर के सिम्स हॉस्पिटल में ले गए, यहां बुधवार की देर रात इलाज के दौरान शिवराज परिहार की मौत हो गई।

मौत के बाद पूरे मोहल्ले के लोग जितने सदमे में हैं, उतने ही आक्रोशित भी हैं। मोहल्ले में जगह-जगह फैली हुई गंदगी से लोग परेशान हैं। डेंगू बुखार से मौत के बाद नगर परिषद के सफाई कर्मियों ने आसपास के घरों के बाहर दवा का छिड़काव किया है, लेकिन स्वास्थ्य विभाग से कोई भी वहां नहीं पहुंचा। इससे पहले भी बैराड़ नगर एवं आसपास के गांव में 5 लोगों में डेंगू बुखार की पुष्टि हो चुकी है। 

इसके बाद भी प्रशासन डेंगू को गंभीरता से नहीं ले रहा। परिजनों ने डेंगू बुखार से मौत होने की पुष्टि की। नगर सहित तहसील क्षेत्र में लगातार डेंगू बुखार से पीड़ित मरीजों के मिलने के बाद भी स्वास्थ्य विभाग नगर परिषद के साथ प्रशासन भी हाथ पे हाथ धरे बैठा है। स्वास्थ्य विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाही का अंदाजा केवल इसी बात से ही लगाया जा सकता है कि बैराड़ नगर में डेंगू बुखार से पीड़ित मरीज मिलने के बाद भी स्वास्थ्य विभाग द्वारा न तो अभी तक मच्छर मारने की दवाइयों का छिड़काव कराया गया है और न ही लार्वा विनिष्टीकरण के लिए कोई प्रयास किए गए हैं। 

डेंगू बुखार से पीड़ित एक मजदूर की मौत होने के बाद अब ये देखने की जरूरत है कि प्रशासन इस मौत से कुछ सबक लेता है या लोगों को यूं ही भगवान भरोसे मरने के लिए छोड़ दिया जाता है।