Ad Code

4 घंटे तक पति और बेटे का इंतजार करता रहा किरण का शव

शिवपुरी। यह तो स्पष्ट हो गया है कि राघवेन्द्र नगर में विजय गुप्ता की पत्नी किरण गुप्ता की हत्या लूट के इरादे से की गई है। अब सवाल यह उठता है कि लुटेरे कौन थे। पुलिस का मानना है कि वो परिचित ही रहे होंगे तभी इतनी आसानी से हत्याकांड को अंजाम दे सके। श्री गुप्ता के घर के सामने एक दुकान है। वहां मौजूद लोगों ने बताया कि वो 5 बजे से 9 बजे तक दुकान पर थे। इसी बीच गुप्ताजी के घर कोई नहीं आया। यानि हत्या 5 बजे के पहले हुई। पति विजय एवं किरण का बेटा दुकान पर थे। जब वो रात 9 बजे लौटे तक घटना का पता चला।