सोशल से सडक़ो पर उतारा SCST एक्ट का विरोध, भाजपा नेताओ के होर्डिंग पर पोती कालिख, पहनाई जूतो की माला - Shivpuri Samachar | No 1 News Site for Shivpuri News in Hindi (शिवपुरी समाचार)

Post Top Ad

Your Ad Spot

8/30/2018

सोशल से सडक़ो पर उतारा SCST एक्ट का विरोध, भाजपा नेताओ के होर्डिंग पर पोती कालिख, पहनाई जूतो की माला

शिवपुरी। देश में भाजपा द्वारा पूरी ताकत से लाया गया SCST एक्ट का विरोध पूरे देश में चल रहा हैं। इससे प्रभावित समाज इस एक्ट का विरोध अधिकाशं सोशल पर किया जा रहा था। लेकिन शिवपुरी में अब यह विरोध सोशल से सडक पर उतर आया हैं। शिवपुरी जिले में इसका श्रीगणेश कोलारस विधासभा के गांव से शुरू हो गया हैं। और इसके फोटो सोशल पर वायरल किए जा रहे हैं। जानकारी के अनुसार कोलारस के ग्राम इंदार के ग्राम चक्करामपुर पटरन में इस एक्ट से प्रभावित स्वर्ण समाज सहित अन्य समाज के लोगो ने सडक पर उतरकर इस एक्ट का विरोध किया। अभी रक्षा बंधन के त्यौहार पर कोलारस के पूर्व विधायक देवेन्द्र जैन और उनके अनुज गोटू जैन जो पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष भी है ने अपने होर्डिग इस त्यौहार की सभी जनमानस को बधाई देते हुए लगाए थे। कोलारस के ग्राम चक्कराम पुर के लोगो ने एक बैनर लेकर इस एक्ट का विरोध शुरू किया,और वहां पर पूर्व विधायक देवेन्द्र जैन और उनक अनुज पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष गोटू जैन के द्वारा रक्षा बंधन की बधाईया देते हुए होर्डिग पर कालिख पोत दी, और जूतो की माला पहनाते हुए इस एक्ट  का विरोध किया। 

इस एक्ट का विरोध कर रहे लोगो के जनसमूह के फोटा में इस ग्राम का नाम दिख रहा हैं,लेकिन होर्डिग के साथ दुर्वव्यवहार कर रहे फोटो में नाम पता स्पस्ट नही हैं। लेकिन उक्त सभी फोटो एक साथ वायरल हुए हैं, इस लिए कयास लगाए जा रहे है कि इसी ग्राम में ऐसा हुआ हैं। बैनर वाले फोटो पर स्पस्ट हैं कि हम सभी लोग समान्य और पिछडा वर्ग से हैं। इस सभी SCST एक्ट का विरोध करते हैं। 

अब यह विरोध सोशल से सडको पर उतर आया हैं। इस एक्ट के संशोधन के चलते भाजपा ने बैठी भैस में लठ्ठ मारा हैं। पूरे देश में  इस एक्ट के कारण भाजपा का जो मूल मतदाता है वह नाराज हैं। इसी एक्ट के कारण कांग्रेस ने बसपा से आने वाले चुनावो में गठबंधन नही किया है। कांग्रेस भी इस एक्ट को अंदरूनी तौर पर हवा देर रही हैं। राजनीतिक पंडितो को कहना हैं कि इस एक्ट का जो सुखकर्ता वोटर है वह मप्र में तो हाथी का हैं। भाजपा को इस एक्ट के कारण अपने मूल मतदाता की नाराजगी झेलनी पड सकती हैं। और जो भाजपा के लिए घातक हो सकती हैं।

No comments:

Post Top Ad

Your Ad Spot