Ad Code

इस बार नही है भद्रा का अडंगा: दिन भर बधेंगी राखी, शुभ और अमृत की बेला

शिवपुरी। इस बार बहन ओर भाई के इस प्यार भरे त्यौहार में भद्रा अंडगा नही डालेगा। इस बार रक्षाबंधन पर गुरू की वंयम दृष्टि चंद्रमा पर रहेगी। इस बार दिन भर राजयोग,शुभ और अमृत बेला रहेगी। बस शाम के समय राहू काल आने के कारण राखी बांधने से बचे। राजयोग में रक्षाबंधन पर्व मनाने से बहनों का सौभाग्य बढ़ेगा तो भाईयो को भी तरक्की के आसार हैं,ओर परिवार में भी सुख शांति के योग हैं। इसके अलावा यह बात भी खास है कि इस रक्षाबंधन पर भदा्र का याया भी नही हैं। यह मौका 4 साल बाद आया हैं। इसके चलते सुबह कीब एक घटें छोडक़र सुबह से शाम तक राखी बांधी जा सकेगी। 

शिवपुरी के प्रसिद्व ज्योतिषाचार्य पं.राधेश्याम अवस्थी ने बताया कि रक्षाबंधन पर भद्रा का साया नही रहेंगा। रक्षाबंधन पर पूरे 11 घंटे राखी बांधने का मुर्हत रहेगा। लेकिन शाम 4:30 बजे से 5:12 बजे तक राहू काल होने से राखी नही बांधे। 

यह है शुभ मुहूर्त
लाभ बेला: सुबह 9 बजे से 10: 43 बजे तक
अमृत बेला: सुबह 10: 43 बजे से 12:19 बजे तक
शुभ बेला: दोपहर 1:55 बजे से 3:31 बजे तक
शुभ बेला: रात 7:22 बजे से 8:30 बजे तक
अमृत बेला: रात 8:31 बजे से 10:05 बजे तक