आरोप: क्योस्क संचालक ने महिला के खाते से निकाल लिए 10 हजार

शिवपुरी। जिले के बैराड़ थाना क्षेत्र में क्यिोस्क संचालक भोले भाले ग्रामीणों को गुमराह कर रूपए ऐठ रहे है। पुलिस द्वारा उक्त मामले में क्योस्क संचालकों पर मामला दर्ज नहीं करने से उक्त मामले दिन व दिन बढ़ रहे है। ऐसा ही एक मामला आज प्रकाश में आया है। जहां बरौद रोड़ पर संचालित एसबीआई के एक क्योस्क संचालक ने एक महिला के खाते से 10 हजार रूपए की राशि निकाल ली। जानकारी के अनुसार बरोद रोड पर संचालित स्टेट बैंक की क्योस्क शाखा कालामढ के संचालक द्वारा रसैरा गांव निवासी आशा पुत्री गोपाल धाकड़ ने बीते रोज अपने खाते से अंगूठा लगवा कर 10 हजार रूपये निकालने गई। परंतु बैंक संचालक ने उक्त महिला के खाते से रूपए तो निकाल लिए परंतु महिला को बोल दिया कि उसके खाते में तो दस हजार रूपए ही नहीं है। 

महिला के चाचा राकेश पुत्र मोतीलाल धाकड़ निवासी रसैरा ने बैराड़ पुलिस को दिए आवेदन में बताया है कि उनकी भतीजी आशा धाकड़ का विजयपुर की बैंक में खाता क्रमांक 2002631030035065 है। आशा को पैसों की जरूरत के कारण कालामढ़ में संचालित एसबीआई कियोस्क शाखा से आधार कार्ड के जरिए 10 हजार रूपये निकालने थे।

कियोस्क संचालक द्वारा उससे अंगूठा लगवा कर बताया कि उसके खाते में तो 1900 रुपए हैं तो वह एकदम सकते में आ गई। मजबूरी में उसे पैसे की जरूरत होने के कारण 1900 रूपए ही निकाल लिए। उसके बाद महिला ने बैंक में जाकर अपने खाते का स्टेटमेंट निकलवाया तो सामने आया कि उसके खाते से दो बार ट्रांजेक्शन हुआ है। पहली बार में 10 हजार रूपए निकाले है। जबकि दूसरी बार में 1900 रूपए निकाले है। 

उक्त ट्रांजेक्शन दो बार एक ही दिन में कुछ मिनट के अंतराल में हुआ है।  जब कियोस्क संचालक से कहा तुमने मेरे साथ धोखाधड़ी की है तो मैं शिकायत करूंगी तो उसने कहा तुम जहां जाओ वहां शिकायत करो परेशान होकर आशा द्वारा चाचा के माध्यम से पुलिस में आवेदन देकर उसके साथ हुई धोखा धड़ी के खिलाफ कार्यवाही की मांग की।

पूर्व में भी हुई है ऐसी घटनाएं
नगर परिषद बैराड़ में संचालित कियोस्क बैंक में आए दिन गरीब भोले वाले किसानों एवं महिलाओं  से अंगूठा लगवाकर दो बार रुपए निकालने की कई घटनाएं हुई हैं कियोस्क संचालक द्वारा की जा रही धोखाधड़ी पकड़ आने पर भी ट्रांजैक्शन फेल होने का बहाना बनाकर या माफी मांग कर पैसे वापिस देने की कई घटनाएं दबा दी गई है। 

उपभोक्ताओं द्वारा की जाने वाली शिकायतों पर जिम्मेदारों  द्वारा कार्यवाही नहीं किए जाने से कियोस्क बैंक संचालकों द्वारा बेखौफ यह कार्य किया जा रहा है  अभी बैराड़ में यूको बैंक कियोस्क संचालक द्वारा विजय धाकड़ के खाते से भी 2000 रुपए निकाले जाने का मामला 15 दिन पूर्व सामने आया। उसमें भी अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है। 

इनका कहना है-
ट्रांजैक्शन फेल होने से आशा धाकड़ के रुपए उसकी संबंधित ब्रांच की हेड ब्रांच में चले गए हैं वह वहां जाकर पैसे वापसी हेतु कार्यवाही करें। 
पुरुषोत्तम वर्मा , एसबीआई क्योस्क संचालक,बऱोद रोड बैराड
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics