10 साल की मासूम बच्ची बुखार से मर गई, DOCTOR ने जांच नहीं कराई, पुलिस बुला ली | Shivpuri news

शिवपुरी। मप्र सरकार ने डॉक्टरों के दवाब में आकर उनकी सुरक्षा के लिए कानून तो बना दिया परंतु ऐसा कोई कानून नहीं बनाया जो डॉक्टरों को ईमानदारी से इलाज करने के लिए बाध्य करता हो और यदि डॉक्टर लापरवाही करे तो इसी तरह पुलिस आ जाए जैसे कि डॉक्टर की पिटाई पर आती है। यहां मामला 10 साल की मासूम शिवा परिहार का है। वो बुखार से पीड़ित थी। डॉक्टरों ने उसे भर्ती किया और भूल गए। उसका शरीर ठंडा पड़ने लगा। नर्स ने डॉक्टर को बताया तक नहीं। जांच के लिए खून का सेंपल तक नहीं लिया। जैसे ही उसकी मौत हुई। घबराए डॉक्टरों ने पुलिस बुला ली और पुलिस भी डॉक्टर की रक्षा के लिए आकर तैनात हो गई। उस डॉक्टर के खिलाफ एक शिकायत तक नहीं ली गई, जो शिवा का इलाज नहीं कर रहा था। 

मनियर टोल नाके के पास स्थित कॉलोनी में रहने वाले गोंविद परिहार की बेटी शिवा परिहार उम्र 10 साल, आकांक्षा उम्र 16 साल, भवूती उम्र 06 साल को बुखार आने पर तीनो बहनों को गुरूवार की शाम जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। शुक्रवार की शाम शिवा की हालत अचानक खराब होने लगी तो उसे ट्रोमा के आईसीयू में शिफ्ट किया गया। 

नर्स ने कोई मदद नही की
परिजनों का कहना था कि कल शाम को शिवा के शरीर में हरकत होना बंद हो गई और उसका शरीर ठंडा पडने लगा तो ड्यूटी डॉक्टर अनूप गर्ग को बुलाया गया तो उन्होनें शिवा का चैकअप कर उसे मृत घोषित कर दिया। बताया गया है कि जब शिवा के शरीर ठंडा पड रहा था तो तत्काल नर्स से कहा गया लेकिन ड्यूटी पर तैनात नर्स ने कोई उचित जबाब नही दिया और डॉक्टर को जानकारी नही दी, इस बात से परिजन भी नाराज थे। 

डॉक्टरों ने सुरक्षा के लिए पुलिस बुला ली
महौल खराब न हो इस कारण एहतियात के तौर पर कोतवाली पुलिस को बुला लिया गया। शिवा की मौत के बाद अस्पताल में बुखार से पीडि़त दोनो बहनो की जांच आदि कर्रवाई जा रही हैं। परिजनों को कहना है कि अस्पताल प्रबंधन ने उसकी ब्लड की कोई जांच नही करवाई, उसकी मौत का रहस्य भी उसके साथ ही दफन हो गया। 

जबकि मनियर में डेंगू फैला है, ये सबको पता है
बताया जा रहा है कि शिवा का मनियर क्षेत्र में है और इस क्षेत्र में डेगूं के मरीजो को चिन्हित किया जा चुका हैं। इस कारण मना जा रहा है कि शिवा की मौत भी डेंगू के कारण हो सकती हैं। अब अस्पताल प्रबधंन उसकी दोनो बहनों की डेंगू की जांच करवाने की बात कह रहा हैं। 

और अब सिविल सर्जन का कुतर्क
इस मामले में सिविल सर्जन का कहना है कि इतनी जल्दी कोई डेंगू से नही मरता हैं लेकिन उसे कब से बुखार आ रहा है हमारे पास तो वह पिछले 24 घटें से भर्ती हैं। अब उसकी दोनों बहनो की डेंगू की जांच करवां रहे हैं। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

-----------

analytics