ग्लोबल वार्मिंग के खतरे के चलते ITBP में रौंपे 1071 पौधे

शिवपुरी। हमें ग्लोबल वार्मिंग के खतरे को समझना होगा और अधिक से अधिक पौधरोपण को आगे आना होगा। तभी हम प्रकृति को सहेज कर रख पाएंगे अन्यथा धीरे धीरे हम और अधिक खतरे की और बढ़ते जाएंगे। बच्चे,जवान,महिलाएं सब मिलकर पौधरोपण को आगे आएं। मेरी यही कामना है। यह बात भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल शिवपुरी कैम्पस में आयोजित हुए पौधरोपण कार्यक्रम में आर के शाह उप महानिरीक्षक, एसटीएस ने मौजूद लोगों को संबोधित कर कहे। 

उन्होंने कहा कि आज पूरा विश्व ग्लोबल वार्मिंग से परेशान है और शिवपुरी का जल भराव क्षेत्र लगातार कम होता जा रहा है, हरियाली कम होती जा रही है ऐसी स्थिति में मानव जीवन पर अस्तित्व का संकट गहराता जा रहा है। इन सभी तथ्यों को ध्यान में रखते हुए आईटीबीपी परिसर में 1हजार 71 पौधों को लगाया गया। जिसमें सिगनल ट्रेनिंग स्कूल/दूरसंचार वाहिनी तथा हिमवीर महिला कल्याण संघ की समस्त महिलाओं ने भी पौधरोपण में भागीदारी की और एक एक पौधे को जीवित रखने के साथ उसकी देखभाल का बीड़ा भी उठाया। 

कम जल स्तर में पनप सकें ऐसे पौधों का किया चयन 

इस दौरान ऐसे पौधों का चयन किया गया जो कम जलस्तर में भी पनप सकते है। ऐसे में करंज के 100 पौधे, शीशम के 250, सागवान के 50, अमलतास के 50, नीम के 200, आंवला के 200,चिरोल के 100, सीताफल के 70, सहजने के 50 एवं आम का 1 पेड़ लगाए गए। जिनमें कुल 1हजार 71 पौधों को लगाया गया। आई टी बी पी शिवपुरी में इस पौधरोपण के अवसर पर महेश कलावत, सेनानी, दूरसंचार वाहिनी, एम ए बेग, सेनानी, एसटीएस, राजेश कुमार चौधरी, द्वितीय कमान, एसटीएस,के के तिवारी एवं दोनों संस्थान के समस्त अधिकारीगण,अधीनस्थ अधिकारीगण, प्रशिक्षणार्थी एवं हिमवीर महिला कल्याण संघ की समस्त महिला पदाधिकारी एवं सदस्यगण उपस्थित थे। 
Share on Google Plus

About Bhopal Samachar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 comments:

-----------

analytics