घर में घुसकर आंगनवाड़ी सहायिका के साथ पति-पत्नी ने की जमकर मारपीट

शिवपुरी। शहर के कोतवाली थाना क्षेत्र अंतर्गत आने वाले माधौनगर फतेहपुर में रहने वाली आंगनवाड़ी सहायिका जब अपने घर पर अकेली थी तभी पड़ोस मेें रहने वाले पति-पत्नी ने मौका पाकर उसके घर में घुस आए। आरोपियों ने कुटनी एवं लात घूसों से जमकर महिला के साथ जमकर मारपीट कर दी। आरोपियों ने महिला को इतना भयभीत कर दिया वह घटना के दूसरे दिन रिपोर्ट दर्ज कराने थाने पहुंची। जानकारी के अनुसार कृष्णा पत्नी राजकुमार जाटव उम्र 26 वर्ष निवासी 28 नंबर कोठी के पास फतेहपुर शनिवार को अपने घर पर अकेली थी। महिला का पति काम पर गया हुआ था जबकि उसके दोनों बच्चे मंगलम में योगा सीखने के लिए गये हुए थे। तभी पास में ही रहने वाला मुकेश ओझा और उसकी पत्नी मंजू ओझा गाली गलौंच करते हुए कृष्णा के घर में आ धमके। महिला को अकेला पाकर मुकेश ओझा ने महिला की पकडक़र नीचे पटक दिया और जाति सूचक गालियां देेते हुए लात घूसों से मारपीट करने लगा, वहीं मंजू ने कपड़ा कुटनी से महिला पर एक के बाद एक वार कर दिया। 

जिससे महिला को बचाव करने का मौका ही नहीं मिला। आसपास के लोगों को आता देख आरोपी महिला को जान से मारने की धमकी देकर मौके से भाग निकले। शाम को जब महिला का पति घर लौटकर आया तो पूरा घटनाक्रम सुनाया। चूंकि आरोपी आपराधिक प्रवृत्ति का है इसलिए महिला और उसका पति भयभीत हो गए और तत्काल उन्होंने घटना की शिकायत पुलिस में दर्ज नहीं कराई, लेकिन कल हिम्मत जुटाकर महिला अपने पति के साथ कोतवाली पहुंची और पूरा घटनाक्रम पुलिस को बताया। पुलिस ने महिला की शिकायत पर से आरोपी पति, पत्नी के खिलाफ धारा 294, 323, 506, 34 ताहि, 3(2)(व्हीए), (3)(1)(आर),(3)(1)(एस) एससी एक्ट के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना प्रारंभ कर दी है।

रिपोर्ट दर्ज कराने पर फरसा लेकर फिर से मारने पहुंचा आरोपी
पीडि़त महिला ने बताया कि जब वह थाने में रिपोर्ट दर्ज कराकर वापस लौटी तो इस बात की भनक आरोपी मुकेश ओझा और उसकी पत्नी मंजू को लगी तो मुकेश महिला को मारने के लिए फरसा लेकर उसके घर पहुंच गया। अन्य लोगों के मौके पर आ जाने के कारण आरोपी अपने मंसूबों में सफल नहीं हो सका। घटना के बाद से पूरा परिवार भयभीत बना हुआ है।
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics