लोकतंत्र में तानाशाही कर रही है केन्द्र सरकार: पीयूष शर्मा

शिवपुरी। देश में लोकतंत्र की सरेआम हत्या हो रही है और यह हत्या कोई और नहीं बल्कि स्वयं केन्द्र सरकार कर रही है जहां लोकतंत्र की तानाशाही दिल्ली की साफ-स्वच्छ व आम आदमी की सरकार पर कुठाराघात किया जा रहा है और आईएएस की हड़ताल समाप्त करने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अरविन्द केजरीवाल व उनके अन्य साथियों को शांतिपूर्ण प्रदर्शन के तहत एलजी के यहां बीते 8 दिनों से धरना प्रदर्शन करना पड़ रहा है लेकिन केन्द्र सरकार अपन मनमर्जी पर उतारू है और संवैधानिक अधिकारों का हनन करने पर उतारू है लेकिन आप पार्टी यह बर्दाश्त नहीं करेगी और इसका पुरजोर विरोध किया जाएगा। 

यह कहना था आम आदमी पार्टी के जिला संयोजक एड.पीयूष शर्मा जो पार्टी के आह्वान पर प्रदेशव्यापी प्रदर्शन को माधवचौक चौराहे पर आमजन को संबोधित करते केन्द्र सरकार के तानाशापूर्ण रवैय को जनता के बीच बता रहे थे।इस प्रदर्शन में आप पार्टी कोटा के यूथ विंग के संभागीय उपाध्यक्ष मिथलेश सुमन ने भी जमकर केन्द्र सरकार पर अपनी भड़ास निकाली और केन्द्र सरकार को इसके गंभीर परिणाम भुगतने होंगें, को लेकर चेतावनी दी। इस प्रदर्शन में विधानसभा सचिव सतीश खटीक, जिला जनसंपर्क अधिकारी प्रभारी राजकुमार त्यागी, अभिषेक भट्ट, सादिक खान, शब्बीर खान, अमित योगी और चिटोरा के मंडल अध्यक्ष सुरेश रावत व सैकड़ों अन्य कार्यकर्ता मौजूद रहे। 

आप पार्टी जिला संयोजक एड.पीयूष शर्मा ने कहा कि दिल्ली सरकार को पिछले तीन सालों से केन्द्र की मोदी सरकार ने राज्यपाल (एलजी)के माध्यम से परेशान किया और सरकार को कठपुतली बनाने का प्रयास किया जबकि आप की सरकार ने जन कल्याण के अनेकों कार्य कर जनहित की योजनाऐं संचालित की है। इन्हीं जनकल्याणकारी योजनाओं की राजनीति से घबराकर केन्द्र सरकार दिल्ली के मुख्यमंत्री को परेशान करने के लिए आईएएस अफसरों की हड़ताल करवा रखी है लेकिन यह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। 

इसे लेकर मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया, कैबीनेट मंत्री व मप्र प्रभारी गोपाल राय व स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन पिछले 8 दिनों से अनिश्चितकालीन अनशन पर एलज के घर पर ही धरने देने बैठ गए है। उन्हीं के समर्थन में संपूर्ण मप्र में पार्टी प्रदेशव्यापी विरोध प्रदर्शन कर रही है ताकि केन्द्र सरकार संवैधानिक अधिकारों पर अपना अधिकार जमाना छोड़े और दिल्ली के मुख्यमंत्री को स्वतंत्र को होकर उन्हें कार्य करने दे। यदि यही रवैया रहा तो शिवपुरी ही नहीं बल्कि संपूर्ण मप्र में भी आप पार्टी धरना प्रदर्शन और आन्दोलन करने को बाध्य होगी। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics