उपार्जन केंद्रों पर समूचित व्यवस्था करने के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त

शिवपुरी। रवी विपणन वर्ष 2018-19 में समर्थन मूल्य पर चना, मसूर, सरसों का उपार्जन जिले में किया जा रहा है। उपार्जन केंद्रों पर समूचित व्यवस्था करने, कृषको एवं उपार्जन समितियों के बीच समन्वय स्थापित किए जाने के लिए प्रत्येक खरीदी केंद्रों के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किए है। कलेक्टर शिल्पा गुप्ता द्वारा जारी आदेश में नियुक्त नोडल अधिकारियों में मंडी प्रांगण करैरा में विपणन सहकारी समिति करैरा के लिए तहसीलदार करैरा आशा परमार, मंडी प्रांगण मगरौनी में विपणन सहकारी समिति नरवर के लिए सीईओ जनपद नरवर श्री एपी प्रजापति, मंडी प्रांगण कोलारस में विपणन सहकारी समिति कोलारस एवं सेवा सहकारी समिति कुलवारा के लिए तहसीलदार कोलारस महेन्द्र कथूरिया, मंडी प्रांगण लुकवासा में विपणन सहकारी समिति कोलारस के लिए सीईओ जनपद कोलारस सुमन चक, मंडी प्रांगण खनियांधाना में विपणन सहकारी समिति खनियांधाना के लिए तहसीलदार खनियांधाना सीमा मौर्य, मंडी प्रांगण पिछोर में विपणन सहकारी समिति पिछोर के लिए तहसीलदार पिछोर शिवशंकर गुर्जर, मंडी प्रांगण पोहरी के लिए सेवा सहकारी समिति पोहरी, सेवा सहकारी समिति छर्च के लिए तहसीलदार पोहरी अखिलेश शर्मा, मंडी प्रांगण खतौरा में सीईओ जनपद बदरवास सेवा सहकारी समिति पीरौठ, सेवा सहकारी समिति कुटवारा सीईओ जनपद बदरवास दिनेश शाक्य, मंडी प्रांगण रन्नौद में सेवा सहकारी समिति खरैह एवं सेवा सहकारी समिति मुंहासा नायब तहसीलदार रन्नौद श्री राजवीर सिंह भदौरिया को नियुक्त किया गया है। 

कलेक्टर गुप्ता ने नियुक्त नोडल अधिकारियों को निर्देश दिए है कि उपार्जन केंद्रों पर प्रतिदिवस खरीदी की जानकारी जिला मुख्यालय को भेजने के साथ-साथ केंद्र पर कानून व्यवस्था की स्थिति निर्मित होने पर तत्काल संबंधित अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पुलिस अथवा जिला कलेक्टर को सूचित करेंगे।
 
उपार्जन केंदों की मोनिटरिंग अपर कलेक्टर करेंगे
कलेक्टर शिल्पा गुप्ता ने उपार्जन केंद्रों पर होने वाली खरीदी, तौल, बारदाना उपलब्धता, परिवहन, कृषकों के भुगतान आदि समस्याओं के निराकरण तथा उर्पाजन केंद्रों की मॉनिटरिंग के लिए अपर कलेक्टर अनुज रोहतगी को नोडल अधिकार नियुक्त किया है। 

नियुक्त किए गए नोडल अधिकारी रवी उपार्जन कार्य में लगे जिला आपूर्ति अधिकारी महाप्रबंधक केन्द्रीय सहकारी बैंक, प्रबंधक नागरिक आपूर्ति निगम, प्रबंधक मार्कफेट, प्रबंधक वेयरहाउस, उपायुक्त सहकारिता, उपसंचालक कृषि आदि संबंधित विभागों के अधिकारियों की प्रतिदिन बैठक लेकर कृषकों एवं उपार्जन केन्द्रों के बीच समन्वयन स्थापित कर प्रत्येक उपार्जन केंद्र का जायजा लेंगे तथा उपार्जन केन्द्रों के लिए नियुक्त नोडल अधिकारी सुबह-शाम केंद्रों पर जाए यह भी सुनिश्चित कराएगें। प्रतिदिन की वस्तु स्थिति से जिला कार्यालय को अवगत कराएगें। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics